दस हजार परिवारों के नाम सूची में जोड़े

कलेक्टर ऑफिस और खाद्य विभाग में चक्कर काट रहे जरूरतमंद गरीब परिवार








 

 

दस हजार परिवारों के नाम सूची में जोड़े, लेकिन नहीं पहुंची पात्रता पर्ची
छिंदवाड़ा पिछले साल 2018 में दस हजार गरीब परिवारों के नाम प्राथमिक सूची में जरूर जोड़ दिए गए लेकिन उनकी राशन पात्रता पर्ची अभी तक भोपाल से छिंदवाड़ा नहीं पहुुंची है। इसके चलते गरीब और जरूरतमंद परिवार दिन भर कलेक्टर ऑफिस और खाद्य विभाग के चक्कर काट रहे हैं। ग्रामीण अंचल से आनेवाले लोगों की हालत देखकर अधिकारी-कर्मचारियों को भी दया आ जाती है। उच्च पदस्थ अधिकारियों को इसके बारे में अवगत भी करा दिया गया है। उन्होंने लम्बे समय से राशन की राह देख रहे परिवारों को पात्रता पर्ची देने के बारे में निर्णय नहीं लिया है।
जिले में इस समय 25 केटेगरी में 3.52 लाख परिवारों को राशन की पात्रता है। उन्हें एक-दो रुपए में गेहूं-चावल और रियायती दर पर दो लीटर केरोसिन भी मिलता है। पिछले साल 2018 में अपात्र परिवारों के नाम काटे गए तो प्रतीक्षा सूची में खड़े 10 हजार गरीब परिवारों के नाम प्राथमिक परिवारों की सूची में जोड़ दिए गए। समस्या यह बनी कि इन परिवारों के मुखियाओं के नाम भी भोपाल स्थित खाद्य आपूर्ति संचानालय पहुंचाए गए। इन परिवारों की राशन पात्रता सूची कम्प्यूटर से जनरेट होनी थी, लेकिन एक साल होने को आए अभी तक उनके नाम की पात्रता सूची जारी नहीं हो पाई है। इसके चलते इन गरीब परिवारों को राशन का कोटा आवंटित नहीं हुआ। बताया जाता है कि जिला खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारियों द्वारा भोपाल में बार-बार अवगत कराने के बाद भी अभी तक इन गरीबों के पक्ष में कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

प्रदेश का मुखिया, फिर भी नहीं सुनते अधिकारी
आश्चर्य की बात यह है कि प्रदेश के मुखिया छिंदवाड़ा जिले से है। इसके बाद भी भोपाल खाद्य आपूर्ति संचानालय के अधिकारी दस हजार गरीबों की पात्रता पर्ची को जनरेट नहीं कर रहे हैं। पर्ची मिल जाती तो इन गरीबों को राशन मिल जाता। शिवराज सरकार से चली आ रही अड़चन सरकार बदलने के बाद भी दूर नहीं हो पाई है। आखिर इन गरीबों की फिर कौन सुनेगा? यह सवाल बना हुआ है।

भोपाल से आने का है इंतजार
& जिले के दस हजार परिवारों की पात्रता पर्ची का भोपाल से इंतजार हैं। तभी उन्हें राशन मिल पाएगा। लगातार आ रही शिकायतों को वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है।
-डीके मिश्रा,
सहायक आपूर्ति अधिकारी

chandrashekhar sakarwar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned