रेत का अवैध खनन को रोकने में नाकाम है प्रशासन : विजय चौरे

मध्यप्रदेश में जबसे पिछले दरवाज़े से बनी भाजपा सरकार का गठन हुआ है तबसे आज तक पूरे प्रदेश में अवैध गतिविधियां तेज़ हो गई है।

By: Sanjay Kumar Dandale

Published: 01 Jun 2020, 05:43 PM IST

छिंदवाड़ा/सौंसर / मध्यप्रदेश में जबसे पिछले दरवाज़े से बनी भाजपा सरकार का गठन हुआ है तबसे आज तक पूरे प्रदेश में अवैध गतिविधियां तेज़ हो गई है। यही हाल सौंसर विधानसभा का है जहां कन्हान नदी से रेत माफिया बिना किसी शासन प्रशासन के भय से लंबी दूरी तक सीमा के बाहर जाकर रेत का खनन कर रहे है।
उक्त विषय को लेकर विधायक विजय चौरे विज्ञप्ति जारी कर बताया कि परतापुर, बारादेवी, सायरा, लोहानी, मालेगांव, सावंगा आदि खदानों पर दिन दहाड़े पोकलेन और जेसीबी से खनन हो रहा है। प्रतिदिन लगभग 400 से अधिक ओवरलोड डम्पर वरुड, अमरावती तथा नागपुर की तरफ़ रेत का परिवहन कर रहे है।
बताया कि नागपुर जिला रेड ज़ोन में है कोरोना का संक्रमण सौंसर क्षेत्र में फैलने का ख़तरा बना हुआ है। बावजूद प्रशासन की नाक के नीचे सैकड़ों डम्पर नागपुर की तरफ़ जा रहे है। जबकि नागपुर परिवहन करना प्रतिबंधित है फिर यह किसके इशारे पर सब कुछ हो रहा है। 15 महीने की कमलनाथ सरकार के राज में कई बार रेत माफिया पर बड़ी-बड़ी कार्रवाई की गई है। चार-पांच महीने तक खदानें पूरी तरह से बंद भी कर दी गई थी परंतु भाजपा सरकार आते ही यह रेत का अवैध कारोबार फिर शुरू हो गया।
उन्होंने बताया कि मैंने 22 मई को कलेक्टर के नाम चिट्टी लिखकर इन सब बातों का जिक्र किया था आज तक इन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। हमारी विधानसभा में ऐसी अवैध कारोबार हम होने नहीं देंगे। प्रशासन यदि दो दिनों के भीतर इन माफिया पर कार्रवाई नहीं करेगा तो कांग्रेस संगठन के साथ लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned