दवा-बीज कम्पनी करें ये दावा तो रहें अलर्ट

दवा-बीज कम्पनी करें ये दावा तो रहें अलर्ट
Advice to farmers

Prabha Shankar Giri | Updated: 08 Jun 2019, 08:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को दी सलाह

छिंदवाड़ा. मक्का में आर्मी वर्म कीट के प्रकोप को लेकर विभाग किसानों को इन दिनों समझाइश देने में लगा है। किसानों को इस कीट से बचाने के अपने तरीके से उपाय करने के लिए जागरूक करने के लिए मैदानी अधिकारी-कर्मचारियों से सम्पर्क करने को भी कहा गया है।

बोवनी के इस मौसम में बीज और दवा की भारी मांग के चलते कम्पनियां किसानों को भ्रमित कर रहीं हैं। अधिकारियों ने इस बारे में भी किसानों को सतर्क किया है। उल्लेखनीय है कि आर्मी वर्म कीट का प्रकोप इस बार मक्का में बड़े पैमाने पर लगने की आशंका जाहिर की जा रही है।

इधर विभाग का आशंका है कि बीज और दवा की कम्पनियां किसानों को अपनी कम्पनी का बीज लेने के लिए इस बात का दावा भी कर सकती है कि इस बीज को बोने से फसल में कीड़ा नहीं लगेगा या फिर फला दवा डालने से कीट मर जाएगा। वैज्ञानिकों और कृषि अधिकारियों का कहना है कि ऐसा कोई बीज या दवा नहीं है। कोई ऐसा दावा करता है तो वह झूठा है।

किसान सावधानी बरतें
विभाग किसानों से सावधानी बरतने को कह रहा है। इस बार स्थानीय दुकानदार या फिर कम्पनी वाले कीट के प्रकोप से बचाने वाले बीज या दवा बताकर महंगे दामों पर भी किसानों को इनकी बिक्री कर सकते हैं।

ध्यान रहे इस बार कीट का प्रकोप होने की शंका के बावजूद मक्का का रकबा तीन लाख हैक्टेयर के आसपास पहुंच सकता है। ऐसे में कई किसान इन कम्पनियों के झांसे में आ सकते हैं। कृषि विभाग किसानों को विभाग और सरकार से अनुशंसित मक्का के बीज लेने कह रहा है। हाइब्रिड किस्म का बीज भी कंपनियों द्वारा बनाया गया है लेकिन उसे अनुशंसा और विभाग द्वारा तय दामों के आधार पर किसानों के लिए उपलब्ध कराया जा रहा है।

करें शिकायत: उपसंचालक जेआर हेडाऊ ने बताया कि कीट का प्रकोप कम करने वाले बीज या दवा लेने के लिए दुकानदार या कम्पनी का प्रतिनिधि कहे तो इसकी शिकायत करें। इस सम्बंध में एसएडीओ स्तर पर पूरे जिले में दल बनाया गया है और दुकानों की जांच कर उन पर नजर रखी जा रही है। दवा बीजों का सेम्पल भी लिया जा रहा है। अमानक स्तर का निकलने पर प्रतिबंध लगाया जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned