कोरोना के साथ-साथ मच्छर भी कर रहे परेशान, जानें सुरक्षा के उपाय

- सीएमएचओ डॉ. मोजेस ने राष्ट्रीय डेंगू दिवस पर दी विशेष जानकारी

By: Dinesh Sahu

Published: 16 May 2020, 05:22 PM IST

छिंदवाड़ा/ संक्रमित एडिज मच्छर डेंगू बुखार जैसी घातक बीमारी से मनुष्य को परेशान कर सकता है। यह मच्छर दिन में ही काटते है तथा 400 मीटर तक उडऩे की क्षमता है। इस रोग का विशिष्ट कोई उपचार नहीं होता है। इस रोग से बचाव के दो ही उपाय है, पहला एडिज मच्छर के प्रजनन स्थल को नष्ट करना तथा दूसरा मच्छर को काटने से स्वयं को बचाना।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप मोजेस ने राष्ट्रीय डेंगू दिवस पर एडिज मच्छर तथा डेंगू के संदर्भ में विस्तृत जानकारी दी। डॉ. मोजेस ने बताया कि इस वर्ष डेंगू दिवस की थीम इफेक्टिव कम्युनिटी इंगेजमेंट की टू डेंगू कंट्रोल है, जिसका अर्थ हैं जनसमुदाय की प्रभावी सहभागिता ही डेंगू नियत्रंण की कुंजी होना है।


डॉ. मोजेस ने बताया जनभागीदारी के बिना डेंगू पर नियंत्रण संभव नहीं है। एडिज डोमेस्टिक मच्छर कहलाता है, जो घर में रखे बर्तन, सीमेंट की टंकी, ड्रम, टूटे बर्तन, मटके, कूलर्स, टायर आदि में एकत्रित पानी में पनपते है। वयस्क मच्छर घर के अंदर नमी अंधेरे वाले स्थान, फर्नीचर के अंदर आदि जगहों पर रहते है।


दस दिन तक जीवित रहते है एडिज मच्छर -


अंडे से बाहर निकलने से वयस्क होते तक एक एडिज मच्छर करीब दस दिन जीवित रह सकता है। इससे सुरक्षा के लिए इन बिंदुओं का ध्यान रखना जरूरी है -


1. प्रत्येक सप्ताह घर में पानी के बर्तन, सीमेंट टांके, ड्रम, कूलर, मटके, टायर में जमा पानी आदि को साफ रखना।


2. खाली नहीं हो सकने वाले बर्तनों को ढक कर रखना, तेल, मिट्टी तेल डालना, जला हुआ इंजन ऑयल डालना जिससे लार्वा नष्ट हो जाते है।


3. मच्छरदानी का उपयोग करना, खिड़की, दरवाजों पर जाली लगाना तथा आसपास सफाई रखना आदि शामिल है।

COVID-19
Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned