दंपती के बीच तकरार , साथ रहने को नहीं तैयार ,अदालत जाने की सलाह

परिवार परामर्श केंद्र परासिया के एक प्रकरण में पति -पत्नी दोनों उपस्थित हुए। इनके दो बच्चे हैं। पति की एक और बच्चे की इच्छा है। पत्नी इसके लिए तैयार नहीं है। समझाइश के बाद भी दोनों एक दूसरे से सहमत नहीं हैं। इस मामले में भी कोई गुंजाइश नहीं होने के कारण न्यायालय जाने की सलाह दी गई।

By: Rahul sharma

Published: 27 Sep 2021, 11:06 AM IST

छिन्दवाड़ा/ परासिया.परिवार परामर्श केंद्र परासिया के एक प्रकरण में विवाहिता ने अपनी शिकायत में बताया कि पति मिस्त्री का काम करता है और प्रतिदिन शराब पीकर मारपीट करता है। वही पति ने आरोपों से इनकार किया । उसने कहा कि पत्नी अन्य व्यक्ति से मोबाइल पर बातचीत करती है। पत्नी ने आरोप से इनकार किया। वहीं पत्नी ने ननद पर आरोप लगाया कि वह जिंदा जलाने की धमकी देती है। जिससे वह भयाक्रांत है तथा किसी भी स्थिति में पति के साथ नहीं रहना चाहती। समझौते की कोई गुंजाइश नहीं होने के कारण काउंसलरों ने उन्हें न्यायालय जाने की सलाह दी गई। एक अन्य प्रकरण में पति -पत्नी दोनों उपस्थित हुए। इनके दो बच्चे हैं। पति की एक और बच्चे की इच्छा है। पत्नी इसके लिए तैयार नहीं है। समझाइश के बाद भी दोनों एक दूसरे से सहमत नहीं हैं। इस मामले में भी कोई गुंजाइश नहीं होने के कारण न्यायालय जाने की सलाह दी गई। सलाहकारों में केपी पांडे, डीके सेन, शांति तिवारी, जेठूलाल सोनी, चित्रा विश्वकर्मा, सुशीला झाड़े एवं डेस्क प्रभारी वंदना बघेल उपस्थित रही।

Rahul sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned