पहचान ही बचा सकती है पूरे देश को इस संकट से

पहचान ही बचा सकती है पूरे देश को इस संकट से
Army worm in india

Prabha Shankar Giri | Updated: 01 Jun 2019, 06:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

कृषि वैज्ञानिकों ने इस कीट की विशिष्ट पहचान के बारे में किसानों को जानकारी दी

छिंदवाड़ा. मक्का की फसल को बर्बाद करने वाले फाल आर्मी वर्म कीट को आसानी से पहचाना जा सकता है। जिले के कृषि वैज्ञानिकों ने इस कीट की विशिष्ट पहचान के बारे में किसानों को जानकारी दी है और कहा है उनकी शारीरिक रचना, रंग और शरीर पर विशेष चिह्नों को देखकर यह तय किया जा सकता है कि यह आर्मी वर्म कीट ही है। इनके अंडे गुम्बर के आकार के होते हैं और पत्तियों के निचले हिस्से में ही मादा इन्हें रखना पसंद करती है। गर्म मौसम हुआ तो कुछ दिनों से अंडे से इल्ली बाहर आ जाती है।
कृषि अनुसंधान केंद्र के सहसंचालक डॉ. वीके पराडकर ने बताया कि परिपक्व इल्ली की लम्बाई डेढ़ से दो इंच की होती है और इसे आसानी से पहचाना जा सकता है। उन्होंने बताया कि इल्ली के सिर पर एक विशिष्ट उल्टा वाई जैसा हल्का सफेद ओर पीले रंग का चिह्न होता है और इल्ली की शरीर पर अखिरी वाले भाग में चार काले बड़े धब्बे होते हैं। यह वर्गाकार क्षेत्र में होते हैं। जानकारों का कहना है कि इल्ली का यह स्वरूप ही सबसे हानिकारक होता है।

लगातार निगारानी ही सबसे कारगर उपाय
फसल की बोवनी के बाद से उसकी लगातार निगरानी ही इस वर्म से बचने का सबसे कारगर उपाय बताया जा रहा है। किसानों को कहा जा रहा है कि वे बोवनी करने के बाद और पौधों के अंकुरण होते ही उसकी जांच करते रहे और जरा सी भी आशंका होने पर कृषि विभाग के अधिकारियों या फिर वैज्ञानिकों को बताएं ताकि इसपर नियंत्रण शुरू से की किया जा सके।

कोकून के बाद पतंगे के रूप में होता है फैलाव
डॉ. पराडकर ने बताया कि इल्ली बाद में कोकून के रूप में परिवर्तित होती है। यह कोकून बाद में पतंगे का रूप लेता है। इसके अगले पंखों के सिर पर भूरे रंग का निशान होता है। पिछला पंख सफेद होता है। एक वयस्क लगभग 10 से 21 दिनों तक जीवित रहता है। इस दौरान मादा अधिकांश अंडों को जीवन के शुरुआत में ही देती है। यह पतंगे एक दिन में सौ किलोमीटर और पूरे जीवन काल में दो हजार किलोमीटर तक का सफर तय कर सकते हैं। तीस से नब्बे दिन के जीवन चक्र वाले इस कीट की संख्या जलवायु पर निर्भर करती है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned