बारिश के समय टापू बन जाते हैं गांव

बारिश के समय टापू बन जाते हैं गांव

Arun Garhewal | Publish: Jun, 18 2019 11:26:56 PM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

मुख्य मार्ग से भी कट जाता है ग्रामीण अपने ही गांव में दुबककर बैठने को मजबूर हो जाते है।

खैरवानी/हनोतिया. विकासखंड अन्तर्गत ग्रामीण अंचल में बारिश के दिनों में नदी नालों पर बने पुल और पुलिया के निर्माण कार्य को लेकर लगातार सवालिया निशान लगे हुए है। दूरस्थ ग्रामीण अंचल में नगर में बने रपटों की ऊंचाई को लेकर लगातार सवाल उठने के बाद भी इनके निर्माण कार्य में कोई भी सुधार नहीं किया गया है। अब ग्रामीण बारिश के दौरान एक बार फिर इस चिंता है कि यदि रपटे के ऊपर से पानी बहेगा तो कैसे आएंगे जाएंगे। विकासखंड अन्तर्गत ग्राम पंचायत बुर्रीकला के मेन रोड पर बना रपटा जिसकी ऊंचाई लगभग पांच फीट है और यहां हल्की बारिश के दौरान ही रपटा के ऊपर से पानी बहने पर आवागमन पूर्णत: बंद हो जाता है। इस ग्राम का संपर्क न सिर्फ नगरीय क्षेत्र से बल्कि मुख्य मार्ग से भी कट जाता है ग्रामीण अपने ही गांव में दुबककर बैठने को मजबूर हो जाते है।
ग्रामीणों द्वारा लगातार इस रपटे की ऊंचाई बढ़ाये जाने की मांग उठाई गई है किन्तु प्रशासनिक स्तर पर किसी भी प्रकार की कोई भी कार्यवाहीं नहीं की गई है जिससे एक बार फिर बारिष के दौरान ग्रामीण अनेक समस्याओं का सामना पुलिया के ऊपर पानी जाने के चलते करेंगे।
ग्राम पंचायत बुधवारा और उपली में भी रपटे की ऊंचाई और निर्माण को लेकर लगातार सवाल खड़े होते रहे हैं। इन ग्रामों का सम्पर्क भी बारिश के दिनों में लगातार नगरीय क्षेत्रों से कट जाता है वहीं कई ग्रामीण बच्चे जो नगर में अध्ययन करने आते है स्कूल कॉलेज तक नहीं पहुंच पाते है ऐसे में बच्चों को एक ओर पढ़ाई का नुकसान उठाना पड़ता है तो वहीं दूसरी ओर स्वास्थ्य संबंधी उपचार के लिए भी लोग सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नहीं पहुंच पाते है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned