scriptAttention This game is going on in the name of pure drinking water | सावधान! शुद्ध पेयजल के नाम पर चल रहा सरकार का ये खेल | Patrika News

सावधान! शुद्ध पेयजल के नाम पर चल रहा सरकार का ये खेल

पानी पीकर लोग हो रहे बीमार

छिंदवाड़ा

Published: November 08, 2021 11:51:37 am

मंतोष कुमार सिंह छिंदवाड़ा. मध्यप्रदेश में शुद्ध पेयजल के लिए लोग तरस रहे हैं. खासतौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में तो स्थिति बहुत बुरी हो चुकी है. पेयजल के लिए कई शासकीय योजनाएं संचालित की जा रहीं हैं, इसके लिए प्रतिवर्ष करोड़ों रुपए खर्च भी किए जा रहे हैं. इसके बावजूद लोगों को पीने के लिए स्वच्छ पानी नहीं मिल पा रहा है.

water.png

छिंदवाड़ा जिले में हालात यह हैं कि जिला मुख्यालय छिंदवाड़ा के साथ ही परासिया, तामिया, जुन्नारदेव, चौरई, अमरवाड़ा, मोहखेड़ और पांढुर्ना विकासखंड के 39 गांव फ्लोराइड से प्रभावित हैं. हालांकि इन सभी गांवों में रिमूवल प्लांट भी लगाए गए थे, लेकिन पीएचई विभाग की लापरवाही से सभी प्लांट बंद हो चुके हैं.

पीएचई ने पांच वर्ष के लिए मेंटेनेंस का ठेका एक एजेंसी को दिया था. समयावधि समाप्त होने के बाद मेंटेनेंस छोड़ दिया गया और प्लांट बंद होते गए. वर्तमान में तीन गांवों में प्लांट काम कर रहे हैं. ऐसे में शेष 36 गांवों की हालत खराब है. यहां के रहवासी फ्लोराइडयुक्त पानी का सेवन करने को मजबूर हैं.

water2.jpg

विभाग का दावा
पीएचई विभाग का कहना है कि एक व्यक्ति को प्रतिदिन 55 लीटर पानी की जरूरत होती है. इनमें से 10 लीटर पेयजल के लिए होता है. तीन को छोड़ शेष गांवों में हर व्यक्ति को 10 लीटर पेयजल उपलब्ध है. ऐसे में रिमूवल प्लांट को चालू नहीं कराया गया है.

जिन गांवों में फ्लोराइडयुक्त पानी है और लोग उसका सेवन करते हैं, तो उन्हें दूध, दही, छाछ एवं खट्टे फल का ज्यादा उपयोग करना चाहिए. इससे कैल्सियम एवं विटामिन शरीर को पर्याप्त मात्रा में मिल सकेंगे. इसके अलावा विटामिन बी, विटामिन सी और एंटी ऑक्सीडेंट सप्लीमेंट्री फूड के रूप में उपयोग करने से भी फ्लोरोसिस बीमारी से बचा जा सकता है.

Must Read- कोरोना के कारण बंद स्कूलों के लिए शिक्षा विभाग का बड़ा फैसला

36 गांवों के लोग पी रहे फ्लोराइड युक्त पानी
इस संबंध में छिंदवाड़ा के पीएचइ विभाग के कार्यपालन यंत्री जीपी लारिया का कहना है कि जिले में 39 गांव फ्लोराइड प्रभावित हैं. उन्होंने बताया कि इनमें तीन स्थानों पर रिमूवल प्लांट काम कर रहे हैं. शेष स्थानों पर 10 लीटर प्रति व्यक्ति के हिसाब से पेयजल उपलब्ध है.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.