Awareness Camp : कॉलेज के विद्यार्थियों को पढ़ाया कानून का पाठ

विश्व दिव्यांग दिवस पर जागरुकता शिविर आयोजित

By: Rajendra Sharma

Published: 03 Dec 2019, 11:07 PM IST

छिंदवाड़ा/ मप्र राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार दो से छह दिसम्बर तक एचआईवी एड्स से पीडि़त व्यक्तियों के विधिक अधिकारों के संबंध में विशेष जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष बीएस भदौरिया के निर्देशन में तीन दिसम्बर मंगलवार को तहसील विधिक सेवा समिति परासिया अन्तर्गत शासकीय पेंचवैली कॉलेज परासिया में विश्व दिव्यांग दिवस एवं एड्स दिवस के संबंध में कानूनी साक्षरता शिविर आयोजित किया गया।
शिविर में जिला विधिक सहायता अधिकारी सोमनाथ राय, कॉलेज प्राचार्य पीआर चंदेलकर, एनएसएस के कार्यक्रम अधिकारी/सहायक प्राध्यापक आइके साहू, पैरालीगल वॉलेंटियर श्यामल राव, सोशल वर्कर श्वेता मालवीय तथा कॉलेज के एनएसएस से जुड़े एवं अन्य छात्र-छात्राएं उपस्थित रहीं। जिला विधिक सहायता अधिकारी राय ने बताया कि सरकार दिव्यांगजनों से भेदभाव रोकने, समानता का अवसर एवं व्यवहार करने तथा उन्हें सशक्त बनाने के लिए कई विभागों के माध्यम से तमाम योजनाओं का संचालन कर रही है। इसके अतिरिक्त सरकार ने नि:शक्त व्यक्ति, समान अवसर अधिकार संरक्षण और पूर्ण भागीदारी अधिनियम 1995 के साथ-साथ अन्य कानून भी बनाए हैं। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के जरिए सभी न्यायालयों में नि:शुल्क अधिवक्ता की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाती है। इसके अतिरिक्त दिव्यांगों को सरकारी नौकरियों में आरक्षण, भवनों में रैम्प की सुविधा, जिला विकलांग पुनर्वास केंद्र में कृत्रिम अंग लगाए जाना, परिवहन की बसों में 50 प्रतिशत किराए में छूट, ट्रेनों में सीट आरक्षण आदि कई प्रकार की सुविधाएंं प्रदान की जा रहीं हैं। छात्र-छात्राओं से अनुरोध किया गया कि उनके सम्पर्क में आने वाले दिव्यांगों को सुविधाओं से अवगत कराया जाए। पैरालीगल वॉलेंटियर श्यामलराव ने एचआइवी एड्स के कारण, उसका उपचार तथा बचाव के तरीके बताते हुए कहा गया कि यह बीमारी विश्व के अन्य देशों के साथ-साथ भारत जैसे विकासशील देश और यहांं के छोटे गांव कस्बों में भी बड़ी तेजी से फैल रही है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग एवं नेशनल एड्स कंट्रोल सोसायटी तथा रेड रिबन क्लब के प्रयासों से छात्र-छात्राओं को अवगत कराया।
एनएसएस के संयोजक/सहायक प्राध्यापक आइके साहू ने एनएसएस के बैनर तले छात्र-छात्राओं द्वारा आयोजित किए जाने वाले विभिन्न शिविरों के माध्यम से ग्रामीणों एवं विद्यालय के छात्र-छात्राओं को भी जागरूक करने के बारे में जानकारी दी। उन्होंने यह भी अनुरोध किया कि आने वाले दिनों में एनएसएस के शिविर में ग्रामीणों एवं छात्र-छात्राओं को विभिन्न कानूनों व योजनाओं की जानकारी दी जाए।

Show More
Rajendra Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned