Bad habit: रैन बसेरा में रहने को तैयार नहीं भिक्षुक, सुबह होते ही ‘फरार’

Bad habit: नगर निगम के रहवास में रखने के प्रयास विफल

By: prabha shankar

Published: 27 Mar 2020, 04:53 PM IST

छिंदवाड़ा/ संक्रमण काल में सडक़ पर रह रहे भिक्षुकों को नगर निगम रहवास के साथ अच्छा भोजन देना चाहती है, लेकिन आदत से मजबूर ये लोग रैनबसेरा में रहना नहीं चाहते हैं। बीते बुधवार की रात निगम कर्मचारियों ने बारिश के दौरान भी शहर में 13 भिक्षुकों और दो जुन्नारदेव से फंसे लोगों को अस्पताल और नरसिंहपुर रोड स्थित रैन बसेरा में पहुंचाया। इसके साथ ही उनके भोजन की भी व्यवस्था की। इसके साथ ही उन्हें लगातार यहीं रहने की समझाइश दी। गुरुवार सुबह होते ही ये भिक्षुक रैनबसेरा से चले गए। इनमें से चार प्राइवेट बस स्टैंड की सडक़ किनारे पाए जाते हैं तो एक फव्वारा चौक में रहने का मुरीद है। इसके अलावा शेष बस स्टैण्ड और रेलवे स्टेशन में रहते हैं। इन्हें पहले भी रैनबसेरा में लाया जा चुका है, लेकिन आदत से मजबूर ये लोग कोरोना वायरस के संक्रमण काल में भी अपने रहवास स्थल को छोडऩे तैयार नहीं हैं।
निगम के राष्ट्रीय आजीविका मिशन प्रभारी उमेश पयासी का कहना है कि इन भिक्षुकों को कई बार रैनबसेरा में रहने की समझाइश दी जा चुकी है लेकिन ये मानने को तैयार नहीं हंै। निगम फिर भी उन्हें वापस निगम फिर भी उन्हें वापस लाने की ड्यूटी निभाएगा।

Show More
prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned