लॉकडाउन में लोन के 21 करोड़ वापस मिले बैंक को

खरीफ के लिए अब तक 27 करोड़ रुपए बांटे किसानों को

By: Rajendra Sharma

Published: 23 May 2020, 05:24 PM IST

छिंदवाड़ा/ समर्थन मूल्य पर अनाज की खरीदी के चलते अकेले कोऑपरेटिव बैंक को पिछले सीजन में किसानों को दिए लोन में से 21 करोड़ रुपए से ज्यादा वापस मिले हैं। इससे किसानों को भी फायदा मिल रहा है। बकाया लोन को वापस करने के बाद वे फिर से शून्य प्रतिशत ब्याज पर फसलों के लिए नया ऋण ले पा रहे हैं।
गौरतलब है कि कोविड 19 के चलते अपैक्स बैंक में किसानों को लोन चुकाने की सीमा 28 मार्च से बढ़ाकर 31 मई कर दी है। इस बीच समर्थन मूल्य पर खरीदी के कारण किसानों को अपनी उपज बेचने के कारण भी पैसा मिल रहा है। सरकार ने इस भुगतान में से पूरा ऋण वापस लेने के बजाय बकाया का पचास प्रतिशत ही काटने के निर्देश दिए हैं। बाकी का रुपया किसान नकद बैंकों में जमा कर अपना लोन चुकता कर रहे हैं और नया लोन बैंक से ले रहे हैं।
बैंक से मिली जनकारी के अनुसार 15 अप्रैल से शुरू हुई समर्थन मूल्य पर खरीदी के बाद से अब तक साढ़े चार हजार से ज्यादा किसानों से 21 करोड़ रुपए का लोन वापस मिला है। यह आंकड़ा सिर्फ कोऑरपरेटिव बैंक का है।
ध्यान रहे इस कोरोना के चलते बैंक की वित्त पोषक संस्था नाबार्ड ने भी इस बार बैंक के लिए 130 करेाड़ का स्पेशल पैकेज रखा है। जरूरत पडऩे पर इस राशि का उपयोग भी कोऑपरेटिव बैंक कर सकती है। बैंक प्रबंधन के अनुसार बैंक की लिमिट 80 करेाड़ रुपए तक की है। जरूरत पडऩे पर इस पैकेज का भी उपयोग बैंक करेगी।

खरीफ के लिए 27 करोड़ का लोन बांटा

बैंक के महाप्रबंधक केके सोनी ने बताया कि आने वाले खरीफ के सीजन के लिए बैंक से अब तक तीन हजार से ज्यादा किसानों को 27 करोड़ रुपए का अल्पकालीन लोन बांटा जा चुका है। उन्होंने कहा कि हम बैंक से मिली सुविधाओं का ज्यादा से ज्यादा फायदा लेने की बात किसानों से कह रहे हैं। उन्होंने बताया कि बैंक अपनी समितियों की ओर से 10 हजार टन खाद अब तक बांट चुकी है। इसके अलावा नकद वितरण अलग चल रहा है। किसानों को अग्रिम उठाव करने कहा जा रहा है, ताकि बाद में उसे परेशान न होना पड़े।

Show More
Rajendra Sharma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned