ऐसा सबक मिला कि बन गया सबसे बड़ा रक्तदाता, अद्र्धशतक की तैयारी

Dinesh Sahu

Publish: Jun, 14 2018 11:32:24 AM (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
ऐसा सबक मिला कि बन गया सबसे बड़ा रक्तदाता, अद्र्धशतक की तैयारी

स्वैच्छिक रक्तदान से मासूमों के चेहरे पर आती है मुस्कान

छिंदवाड़ा . जिले में सिकलसेल, एनीमिया एवं थैलेसीमिया जैसी बीमारियां से सैकड़ों बच्चे ग्रसित हैं। दोनों आनुवांशिक बीमारियां हंै जिसमें बच्चों के शरीर में या तो रक्त ठीक से बनता नहीं या फिर उनका खून पानी बन जाता है। पीडि़त बच्चों के परिजन को परेशान होते अस्पतालों में देखा जा सकता है। लोगों द्वारा स्वैच्छिक रक्तदान करने से इन बीमारियों से पीडि़त बच्चों के चेहरे पर मुस्कान आती है। इसके साथ ही रक्तदान से जरूरत मंद लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती है।


सबसे ज्यादा रक्त की जरूरत दुर्घटना के शिकार लोगों के जीवन बचाने में, शल्य चिकित्सा के समय, एनीमिया के मरीजों के लिए, शिशु के जन्म के समय गभर्वती महिला को, आरएच निगेटिव माताओं के लिए शिशुओं की जीवन रक्षा के लिए, कैंसर थैलसीमिया के मरीजों के लिए पड़ती है। १४ जून को विश्व रक्तदाता दिवस के रूप में मनाया जाता है लोगों को जागरूक होकर स्वैच्छिक रक्तदान कर एक मिशाल कायम करनी चाहिए।

 

खुद पर बीती तो जाना महत्व


इधर, जागते रहें ग्रुप के प्रमुख रितेश (रिंकू) चौरसिया ने बताया कि एक समय उनके रिश्तेदार का नागपुर में इलाज चल रहा था। तब ब्लड की आवश्यकता होने पर भी नहीं मिला। जिसके कारण उन्हें काफी परेशान होना पड़ा। घटना के बाद अन्य लोगों की दिक्कतों का अहसास हुआ। तब से वह स्वयं तथा लोगों को रक्तदान महादान के लिए प्रेरित करते आ रहे हैं। कई बार जिला अस्पताल में इमरजेंसी स्थिति में भी इन्होंने सहयोग प्रदान किया। रिंकू चौरसिया ने बताया कि अब तक उनके माध्यम से ८४९ लोग रक्तदान कर चुके हैं।


‘नयन’ को खोया तो बन गया व्हाट्सऐप ग्रुप


उधर, तीन जुलाई २०१८ को तामिया निवासी आठ वर्षीय मासूम नयन की मौत समय पर ब्लड नहीं मिलने से हो गई थी। इस घटना ने जिला अस्पताल प्रबंधन की व्यवस्था पर काफी सवाल खड़े किए गए थे। बताया जाता है कि मृतक नयन के माता-पिता भी एक हादसे में मारे गए थे। इसके बाद नगर के कुछ सामाजिक लोगों ने व्हाट्स ऐप पर नयन ब्लड ग्रुप बनाया तथा गु्रप के सदस्यों को लोगों की मदद के लिए प्रेरित किया जाने लगा। अब तक कई सदस्य रक्तदान कर चुके हैं।

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned