सुदामा नाम सुनते ही सिंहासन छोड़ दौड़ पड़े

सुदामा नाम सुनते ही सिंहासन छोड़ दौड़ पड़े
bhagwat katha

Sanjay Kumar Dandale | Publish: May, 21 2019 08:30:00 PM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

दरबान के मुंह से सुदामा नाम सुनते ही श्री कृष्ण सिंहासन छोड़ नंगे पांव ही महल के द्वार पर बाल सखा सुदामा से मिलने पहुंच जाते हैं।

छिंदवाड़ा /गुढ़ी अम्बाड़ा. विकासखंड जुन्नारदेव के अंतर्गत आने वाली ग्राम उमरिया फदाली में कड़वे परिवार के तत्वधान में 13 मई से प्रारंभ हुई श्रीमद् भागवत महापुराण ज्ञान यज्ञ कथा का समापन रविवार को हुआ। भगवत उपासक पंडित नवल किशोर तिवारी के मुखारविंद से भागवत कथा के माध्यम से भगवान श्री कृष्ण की लीलाओं का वर्णन किया गया।
कथा के समापन के अवसर पर रविवार को हवन पूजन कर पूर्ण आहुति दी गई उसके बाद भंडारे के साथ भागवत कथा का समापन किया गया जिसमें सैकड़ों की तादाद में श्रद्धालुओं ने उपस्थित होकर प्रसाद ग्रहण किया। कथा के अंतिम दिन पं. नवल किशोर तिवारी ने भगवान कृष्ण व सुदामा चरित्र का वर्णन किया और कहा गया कि अगर मित्रता हो तो श्री कृष्ण सुदामा जैसी क्योंकि दीनहीन गरीब ब्राह्मण सुदामा अपनी पत्नी के कहने पर पथरीलें कांटो भरे रास्ते से होकर श्रीकृष्ण से मिलने द्वारका नगरी पहुंचता है एवं दरबान से कहता है कि मैं श्री कृष्ण के बचपन का सखा सुदामा हूं एवं द्वारकाधीश से मिलने आया हू। यह सुनते ही दरबान इस गरीब फटे हाल ब्राह्मण की दशा को देखकर उसका उपहास उड़ाते हैं । उसके बाद एक दरबार महल में जाकर यह खबर द्वारकाधीश को सुनाता है । दरबान के मुंह से सुदामा नाम सुनते ही श्री कृष्ण सिंहासन छोड़ नंगे पांव ही महल के द्वार पर बाल सखा सुदामा से मिलने पहुंच जाते हैं । सुदामा को महल में लाकर उसकी खूब आवभगत करते हैं एवं उसके द्वारा लाए हुए पोटली में बांधे हुए चावल भी खाते हैं। पं. तिवारी ने कहा कि भगवान श्री कृष्ण ने अपने मित्र सुदामा के साथ सच्ची मित्रता निभाई। भागवत कथा के उपरांत आरती पूजन किया गया एवं हवन पूजन भंडारे के साथ भागवत कथा का समापन किया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned