भूमिपूजन को लेकर विवाद : एक दिन पहले भाजपा ने किया भूमिपूजन, दूसरे दिन कांग्रेस विधायक पहुंच गए, फिर...

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के भूमिपूजन को लेकर विवाद, भाजपा के बाद अब कांग्रेस पहुंची। बना विवाद, जानिये।

By: Faiz

Published: 21 Feb 2021, 08:37 PM IST

छिंदवाड़ा/ मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा स्थित परासिया में 30 बिस्तरों बाले सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परासिया का उन्नयन कर 100 बिस्तरों का किया जाना है, इसके श्रेय लेने के लिए और भूमि पूजन के लिए भाजपा और कांग्रेस में होड़ लग गई। एक दिन पहले यानी शनिवार को भाजपा के नगर अध्यक्ष ने जाकर भूमि पूजन किया, तो आज यानी रविवार के कांग्रेस के विधायक भूमि पूजन करने पहुंच गए।इसके पूर्व प्रशासन द्वारा कांग्रेसी को भूमि पूजन करने से रोकने के लिए भारी पुलिस बल लगाया गया। प्रशासन और कांग्रेस नेताओं के बीच भारी बाद विवाद और नोक जोक भी हुई।

 

पढ़ें ये खास खबर- राजधानी के पॉर्श इलाके में बड़ा हादसा : लिफ्ट गिरने से 5 लोग घायल, घायलों में बच्चे और बुजुर्ग भी शामिल

 

देखें खबर से संबंधित वीडियो...

CM शिवराज ने की थी ये घोषणा

23 दिसम्बर 2011 में मोरडोगरी ग्रामपंचायत में आम सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 30 बिस्तरों वाले अस्पताल को 100 बिस्तरों का करने की घोषणा किया था। पूर्व में प्रभारी मंत्री गौरी शंकर बिसेन ने खनिज मद से 9 करोड़ की राशि अस्पताल भवन के निर्माण के लिए देने की बात कही थी। 21 सितंबर 2018 को जन आशीर्वाद यात्रा में आए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसका भूमि पूजन कर दिया था। लेकिन 24 सितम्बर 2019 को प्रशासनिक स्वीकृती होते ही श्रेय लेने की होड़ मच गई।

 

पढ़ें ये खास खबर- महिला SDOP ने न्यायाधीश पर लगाए गंभीर आरोप, अधिकारियों के साथ साथ हाई कोर्ट रजिस्टार जनरल से की शिकायत


विधायक ने राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

कल भाजपा के नगर अध्यक्ष ने जाकर भूमि पूजन कर दिया। आज क्षेत्रीय विधायक अपने कार्यकर्ताओं के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परासिया में भूमि पूजन करने पहुंचे तो प्रशासन ने उन्हें रोकने का भरपूर प्रयास किया, जिस दौरान दोनो दलों के बीच हल्की फुल्की धक्का-मुक्की और वाद विवाद भी हुआ। इसके बाद कांग्रे विधायक द्वारा मेन गेट के सामने भूमि पूजन किया गया। मामले को लेकर क्षेत्रीय विधायक सोहनलाल वाल्मीक ने आरोप लगाते हुए प्रशासन को आड़े हाथों लिया और राज्यपाल के नाम ज्ञापन भी दिया है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned