बड़ी खामी: सीसीटीवी से उठा सुरक्षा पर सवाल

बड़ी खामी: सीसीटीवी से उठा सुरक्षा पर सवाल

manohar soni | Publish: Jan, 14 2018 11:26:33 AM (IST) Chhindwara, Madhya Pradesh, India

जनजातीय विभाग के बजट खर्च पर प्रतिबंध, सहायक आयुक्त ने शासन से मांगी अनुमति

छिंदवाड़ा. राज्य शासन के निर्देश के दो माह बाद भी जनजातीय विभाग के अधीन कन्या आश्रमों में सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम पूरा नहीं हो सका है। इससे छात्राओं की सुरक्षा पर सवाल बना हुआ है। विभागीय अधिकारी इसका कारण बजट खर्च पर प्रतिबंध लगना बता रहे हैं।

नवम्बर माह में छात्राओं के साथ ज्यादती और छेड़छाड़ की घटना सामने आने पर जनजातीय विभाग भोपाल के अधिकारियों ने हर कन्या आश्रमों को तीसरी आंख की निगरानी में लाने के दिशा-निर्देश भेजे थे। इसके आधार पर जिले में 32 कन्या आश्रमों को चिह्नित किया गया था। इनमें प्रति आश्रम कैमरे की लागत 42 हजार 500 रुपए तय की गई थी।

विभाग का दावा है कि अभी तक 14 कन्या आश्रमों में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए हैं। शेष 18 आश्रमों में इसका काम लटक गया है। इसकी वजह यह है कि इसका बजट दिसम्बर के अंतिम दिनों में प्राप्त हुआ। इसका उपयोग हो पाता, उससे पहले ही दो जनवरी को राज्य शासन के वित्त विभाग ने खरीदी पर प्रतिबंध लगा दिया। इसके चलते शेष कैमरों को लगाने पर ब्रेक लग गया है।

सहायक आयुक्त शिल्पा जैन का कहना है कि सीसीटीवी कैमरे की खरीदी वित्त विभाग के आदेश के चलते रुक गई है। हमने विभागीय कमिश्नर को पत्र लिखा है। खरीदी की अनुमति मिलते ही कैमरे लगा दिए जाएंगे।

मार्च के बाद हटाए जाएंगे छात्रावास अधीक्षक
तीन साल से अधिक अवधि से जमे छात्रावास अधीक्षकों को मार्च के बाद हटा दिया जाएगा। अभी वार्षिक परीक्षा के चलते यह प्रक्रिया रोकी गई है। उनके स्थान पर वरिष्ठ अध्यापक और अध्यापकों को नियुक्त किया जाएगा। सहायक आयुक्त ने बताया कि राज्य शासन द्वारा इस सम्बंध में दिशा-निर्देश दिए गए हैं। वार्षिक परीक्षा होने के बाद एेसे अधीक्षकों को हटाने की प्रक्रिया शुरू होगी।

 

सीसीटीवी कैमरे की खरीदी वित्त विभाग के आदेश के चलते रुक गई है। हमने विभागीय कमिश्नर को पत्र लिखा है। खरीदी की अनुमति मिलते ही कैमरे लगा दिए जाएंगे।

शिल्पा जैन सहायक आयुक्त

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned