सीएम के क्षेत्र में कटौती से अफसरों की फूल रही सांसें

सीएम के क्षेत्र में कटौती से अफसरों की फूल रही सांसें

manohar soni | Updated: 20 Jun 2019, 11:51:26 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

प्रशासन की जानकारी से बिजली कम्पनी में मचा बवाल,गांव-गांव तस्दीक करने पहुंच रही टीम

छिंदवाड़ा.गांवों में बिजली कटौती की रिपोर्ट जिस तरह से पंचायत सचिव तैयार कर मुख्यालय भेज रहे हैं,उसे बिजली अधिकारी-कर्मचारियों की सांसें फूल रही है। स्थिति यह है कि अधिकांश सचिव अपने ग्राम में सहजता से चार से छह घंटे की कटौती बता देते हैं। बिजली क म्पनी की टीम जैसे ही सरपंच और ग्रामीणों से तस्दीक करने पहुंचते हैं तो कुछ और निकलती है। फिलहाल इस मैदानी रिपोर्ट से जूनियर इंजीनियर से लेकर संभागीय अभियंता तक नींद उड़ गई है।कलेक्टर द्वारा ग्राम पंचायत सचिव और रोजगार सहायकों से ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत व्यवधान की जानकारी प्रतिदिन एकत्रित कर पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी को उपलब्ध कराई जा रही है। जिसकी मैदानी स्तर पर जांच करने अधिकारी-कर्मचारियों को पहुंचना पड़ता है। यह पहली बार है कि अघोषित कटौती पर बने दबाव से बिजली अधिकारी-कर्मचारियों की सांसें फूल रही है और उन पर नियमित आपूर्ति का अत्यधिक दबाव है।
....
सचिवों की रिपोर्ट पर आया गुस्सा
कम्पनी अधिकारियों को इस समय सचिवों और रोजगार सहायकों द्वारा उपलब्ध कराई जा रही जानकारी पर गुस्सा आ रहा है। कारण यह है कि विद्युत उपकेन्द्रों से प्रदाय की जा रही बिजली की अवधि से जानकारी मेल नहीं हो रही है। वितरण सिस्टम में बिजली कहां गायब हो रही है,वे यह दिमाग लगाने की बजाय यह आरोप लगा रहे है कि सचिव स्वयं ग्राम पंचायत मुख्यालय पर नहीं रहते।फ ़ोन द्वारा क्षेत्र के 2-4 लोगों से जानकारी लेते है और उनके बताए अनुसार जानकारी देने की खाना पूर्ति कर देते है। कई बार नेटवर्क न होने से भी जानकारी अंदाज से भिजवा दी जा रही है। इसका खामियाजा विधुत विभाग के अधिकारी और कर्मचारी भुगत रहे हैं। उन्हें जानकारी को गलत साबित करने के लिए सरपंच,पंचों और विद्युत उपभोक्ताओं से लिखित में प्रमाणीकरण कराते घूमना पड़ रहा है।
....
संभागीय अभियंता ने ली अधिकारियों को दी नसीहत
छिन्दवाड़ा जिले में बिजली व्यवधानों को लेकर मचे बवाल को देखते हुए अधीक्षण अभियंता योगेश सिंघई ने छिन्दवाड़ा नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों के अधिकारियों की बैठक ली। इसके उपरांत अमरवाड़ा,सुरलाखापा, बटकाखापा, छिंदी,तामिया जाकर विद्युत उपकेन्द्रों में संधारित रेकॉर्ड एवं की जा रही कार्यवाहियों का अवलोकन किया और व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त बनाने निर्देशित किया गया। इसके बाद पुन: सुरलाखापा,हर्रई क्षेत्र का भ्रमण कर क्षेत्र की विद्युत लाइन का निरीक्षण किया गया। धनौरा व बटकाखापा क्षेत्र का भ्रमण मैदानी अधिकारियों एवं कर्मचारियों की बैठक ली।
.....
एसई ने कहा-बिजली सुधारते हैं तो कोई नहीं कहता थैंक्स
संभागीय अभियंता योगेश सिंघई ने उपभोक्ताओं से कहा कि बिजली के व्यवधान को कटौती न माना जाए। सिस्टम में फ ाल्ट व ट्रिपिंग आना स्वाभाविक है। विभागीय अमला सुधार के लिए कार्यरत है। फ ाल्ट आने पर सुधार हेतु बन्द की गई अवधि को भी कटौती बताना एवं विद्युत कर्मियों की पीड़ा को न समझते हुए आरोप प्रत्यारोप लगाकर मनोबल न गिराए। उनके भी परिवार है। वह भी बिजली बन्द होने पर परेशान होते होंगे। इसके बावजूद आधी रात में अंधी बारिश के दौरान लाइट बन्द होने पर अपनी जान पर खेलकर लाइट सुधारते है। लाइट आने के बाद शायद ही कोई धन्यवाद देता होगा।
...
सोनाखार जेई ने ट्रांसफार्मर के लिए पिटवाई ढोंढी
बिजली व्यवधान की शिकायत से आजिज सोनाखार विद्युत वितरण केन्द्र के जूनियर इंजीनियर ने सिवनी प्राणमोती में नवीन 200 केवीए ट्रांसफार्मर की स्थापना के लिए लाइन स्टाफ के साथ क्षेत्र में ढोंढी पिटवाई और बताया कि 20 जून को सुबह 6 से 10 बजे तक बिजली बाधित रहेगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned