बसों की हड़ताल तो खत्म, लेकिन जानिये आपकी जिंदगी पर क्या होगा असर

छिंदवाड़ा से नागपुर तक 132 रुपए और भोपाल के लिए देने होंगे 385

By: prabha shankar

Published: 24 May 2018, 11:29 AM IST

छिंदवाड़ा . जिले में बस ऑपरेटर्स की हड़ताल तीसरे दिन भी जारी रही जो शाम होते-होते सहमति के बाद खत्म हो गई। परिवहन विभाग तथा बस ऑपरेटर्स के बीच इस बात पर सहमति बनी कि बस किराए में 25 प्रतिशत की बढ़ोतरी की जाएगी। 10 प्रतिशत किराया तत्काल तथा बाकी 15 प्रतिशत किराया एक माह के अंदर बढ़ाया जाएगा। विभाग ने भी इस पर सहमति देते हुए आगामी बैठक कर राजपत्र में प्रकाशन की बात बस ऑपरेटर्स से कही है। शाम तक भोपाल में चली बैठक में मुख्यमंत्री, ट्रांसपोर्ट कमिश्नर तथा जबलपुर सम्भाग के बस ऑपरेटर शामिल हुए। बैठक में सहमति बनने के बाद शाम से बसों का संचालन शुरू कर दिया गया।
एआरटीओ के अनुसार नागपुर के लिए अभी तक120 रुपए देने होते हैं, जबकि 10 प्रतिशत वृद्धि के बाद 132 रुपए और भोपाल के 350 की जगह 385 रुपए किराया देना होगा। एक माह बाद 15 प्रतिशत और बढ़ोतरी के बाद नागपुर के लिए 150 रुपए और भोपाल के लिए 455 रुपए किराया देने होंगे।

दिन में परेशान होते रहे यात्री
हड़ताल के तीसरे दिन सुबह से लोग परेशान होते रहे, प्राइवेट और सरकारी बस स्टैंड पर बसों की जगह ऑटो खड़े थे। इससे लोग परासिया, सौंसर और अमरवाड़ा तक सफर कर रहे थे। नागपुर जाने वाले यात्रियों से कार चालकों ने दो सौ रुपए वसूले। हड़ताल में जिला मुख्यालय छोड़ दें तो अन्य स्थानों पर एक दो बसों का संचालन किया जा रहा था। हड़ताल खत्म होने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली है।

बैठक के बाद सहमति बनी और हड़ताल खत्म हो गई है। 10 प्रतिशत किराया बढ़ाया गया है। इसके साथ ही कुछ बातों पर सहमति बनी है। बुधवार की शाम के बाद जिले में परिवहन की सुचारू व्यवस्था बन गई।
संतोष पॉल, एआरटीओ, छिंदवाड़ा।

बैठक में सहमति बनने के बाद हड़ताल समाप्त कर दी गई है। 10 प्रतिशत किराया तत्काल से बढ़ाया गया है। इसके साथ ही 15 प्रतिशत किराया एक माह के भीतर बैठक कर बढ़ाया जाएगा।
इंद्रजीत सिंह बैस, अध्यक्ष, बस ऑनर एसोसिएशन, छिंदवाड़ा

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned