गाजर घास बनी बीमारियों की वजह

मोहगांव नगर परिषद के वार्ड चार, पांच,नौ, दस व ग्यारह में गाजर घास के फैलने से मच्छर बढ़ गए हैं। वार्ड 9 में तो गाजर घास चार फीट तक बढ़ गई है। जगह-जगह बारिश का पानी जमा है। कई लोग मौसमी रोगों से पीडि़त हैं। पिछली बार मोहगांव डेंगू बीमारी के कारण चर्चा में रहा है। इसके बाद भी सफाई पर ध्यान नहीं दिया जा रहा।

By: Rahul sharma

Updated: 14 Sep 2021, 11:01 AM IST

छिन्दवाड़ा/मोहगांव . नगर परिषद के वार्ड चार, पांच,नौ, दस व ग्यारह में गाजर घास के फैलने से मच्छर बढ़ गए हैं। वार्ड 9 में तो गाजर घास चार फीट तक बढ़ गई है। जगह-जगह बारिश का पानी जमा है। कई लोग मौसमी रोगों से पीडि़त हैं। पिछली बार मोहगांव डेंगू बीमारी के कारण चर्चा में रहा है। इसके बाद भी सफाई पर ध्यान नहीं दिया जा रहा। वार्ड 4 के गोविंदा बावनकर ने बताया पिछले कई दिनों से पार्षद के घर जाकर कीटनाशक छिडक़ाव कराने को बोला गया परंतु आज तक सुनवाई नहीं हुई है । अधिकारी स्वच्छता के नाम पर ढोल पीटते हैं ,पर करते कुछ नहीं। यहां नियमित सफाई व कीटनाशक छिडक़ाव की जरूरत है। जुन्नारदेव नगर पालिका के वार्ड 12 में दो महीनों से जलभराव के कारण बीमारियां फैल रही है। कई लोग बीमारी की चपेट में है। वहीं पार्षद बरखा रानी लदरे ने बताया कि वार्ड 12 में जहां जलभराव होता है। वहां नाली स्वीकृत है ।वार्ड वासियों द्वारा नाली बनाने के लिए भूमि नहीं दी जा रही है । नागरिकों ने बताया कि जलभराव के कारण मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है , लोग मलेरिया- टाइफाइड से पीडि़त हैं। उल्लेखनीय है कि इस वार्ड में नागरिकों ने पक्के मकान बना लिए हैं ,लेकिन नाली के लिए जगह नहीं छोड़ी । अब मैदान में बरसाती पानी की तलैया बन गई है। इसमें सूअर तक बैठे रहते हैं ।

Rahul sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned