निजी बसों के कर्मियों ने महिला परिचालकों से किया विवाद

prabha shankar

Publish: Jul, 14 2018 08:00:00 AM (IST) | Updated: Jul, 14 2018 11:24:03 AM (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
निजी बसों के कर्मियों ने महिला परिचालकों से किया विवाद

मामला सिटी कोतवाली तक पहुंचा, चार पर मामला दर्ज

छिंदवाड़ा. नगरनिगम की सूत्र सेवा एवं प्राइवेट बस सर्विस के बीच चल रहा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। पिछले दिनों प्राइवेट बस सर्विस के चालक ों-परिचालकों ने समय से पूर्व यात्री चढ़ाने का आरोप जबलपुर की सूत्र सेवा पर लगाते हुए विवाद करने की शिकायत की थी। अब अपनी बस छिंदवाड़ा की सूत्र सेवा के चालकों एवं महिला परिचालकों द्वारा निजी बस सर्विस के चालकों एवं परिचालकों पर मारपीट एवं अपशब्द बोलने की शिकायत सिटी कोतवाली में दर्ज कराई है।
सूत्र सेवा के कर्मचारियों के अनुसार वे सभी अपनी बस में बैठे हुए थे। इसी दौरान निजी बसों के कुछ कर्मचारी वहां पहुंचे और महिला परिचायकों को अपशब्द कहने लगे। पुरुष चालकों ने विरोध किया तो उन लोगों द्वारा मारपीट की गई। विवाद के बाद सूत्र सेवा के सभी कर्मचारी, मेंटेनेंस मैनेजर केके शर्मा के साथ सिटी कोतवाली पहुंचे। पुलिस ने उन्हें आरोपियों की पहचान के लिए घटना स्थल तक चलने के लिए कहा। मामले की जानकारी सहायक आयुक्त एवं सूत्र सेवा प्रभारी मोनिका पारधी तक पहुंची एवं उनके आने के बाद चार
अज्ञात लोगों पर पुलिस ने मामला दर्ज किया ।

चार अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज
इस मामले में निजी बस सर्विस में काम करने वाले चार अज्ञात लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया है। कोतवाली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बिछुआ थाना क्षेत्र के ग्राम तुमरगडी निवासी एवं वर्तमान में बरारीपुरा निवासी कंडक्टर दीपिका पिता सुमरलाल नोरे बस कंडक्टर की रिपोर्ट पर प्राइवेट बस के चालक एवं परिचालक पर प्रकरण दर्ज किया गया है।

तीन-चार दिनों से ही खड़ी की जा रहीं थीं बसें
दरअसल निगम की अब तक 11 बसें हैं। इन बसों को खड़े करने एवं यात्री लेने के लिए अलग से कोई तय जगह नहीं है। मानसरोवर बस स्टैंड से ही प्राइवेट एवं सूत्र सेवा दोनों ही बसें यात्रियों को भरकर गंतव्य तक जा रही हैं। इसी वजह से आए दिन समय को लेकर विवाद हो रहा है, लेकिन सूत्र सेवा के लिए अलग से डिपो एवं बस स्टैंड का दावा करने वाले निगम ने अब तक कोई व्यवस्था नहीं की है।

Ad Block is Banned