#Changemakers : स्वच्छ राजनीति के लिए विधि के जानकारों ने की ‘बहस’

mantosh singh

Publish: May, 18 2018 11:49:18 AM (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
#Changemakers : स्वच्छ राजनीति के लिए विधि के जानकारों ने की ‘बहस’

पत्रिका ‘चेंजमेकर’ महाअभियान से जुड़े अधिवक्ता

छिंदवाड़ा. जिला न्यायालय परिसर स्थित पुस्तकालय कक्ष में चेंजमेकर महाअभियान के तहत संगोष्ठी आयोजित की गई। कार्यक्रम में जिला अधिवक्ता संघ कार्यकारिणी के पदाधिकारी शामिल हुए। कानून के जानकारों ने ‘पत्रिका’ के इस महाअभियान की सराहना की। देश में राजनीतिके बदलते मायने और उसे स्वच्छ करने के लिए क्या कदम उठाए जा सकते हैं इस पर विचार रखे। अधिवक्ताओं ने माना की राजनीति में साफ सुधरी छवि के लोगों का आगे आना बहुत ही जरूरी है।

ईमानदारों को किनारे कर दिया
चेंजमेकर महाअभियान चलाने के लिए पत्रिका को साधुवाद। बहुत समय से स्वच्छ राजनीति की जरूरत थी। कहीं जातिवाद की राजनीति हो रही तो कहीं कुछ और चल रहा। साफ सुथरी छवि वाले लोगों का सामने लाना होगा। राजनीति में इमनदारों को किनारे कर दिया गया है। राजनीतिक दल भी साफ छवि वाले लोगों को सामने आने दें। इसके लिए प्रयास हमारी तरफ से भी किए जाएंगे।
राजेंद्र सिंह बैस, अध्यक्ष जिला अधिवक्ता संघ, छिंदवाड़ा

हम भी इसका हिस्सा बनना चाहेंगे
चेंजमेकर अभियान सराहनीय पहल है। हम भी इसका हिस्सा बनना चाहेंगे। राजनीति में साफ छवि के लोगों को मौका दिया जाना चाहिए। अच्छे लोगों को मौका मिलेगा तभी राजनीति और देश के सुधार की कल्पना की जा सकती है। साफ सुथरी छवि वालों को भी आगे आना चाहिए। राजनीतिक दलों का भी दायित्व बनता है कि वे एेसे लोगों और खासकर युवाओं को मौका दें ताकि वे काम कर सकें।
उमाशंकर श्रीवास्तव, अधिवक्ता

राजनीति और धर्म को एक मानें
समाज में परिवर्तन तभी आएगा, जब साफ-सुथरी छवि को सामने लाएंगे। साफ छवि के लोगों को सामने आने का मौका दिया जाना चाहिए। राजनीति में अंर्तद्वंद चलता है जिसे समाप्त करना चाहिए। सुधार का एक रास्ता यह हो सकता है कि अच्छाई को आगे आने का मौका दिया जाए। जनता की राय को सामने लाया जाए जिससे राजनीति में सुधार हो।
गौरव भारद्वाज, अधिवक्ता

महिलाओं को जोड़ा जाए
पुरुष प्रधान समाज में महिलाओं को मौका नहीं दिया जाता। समाज का ५० प्रतिशत हिस्सा राजनीति से नहीं जोड़ा गया। अच्छी राजनीति के लिए महिलाओं को राजनीति से जोड़ा जाना जरूरी है। महिलाओं के लिए राजीनित में सीटें तय होनी चाहिए। ‘पत्रिका’ ने जो काम किया वह काबिले तारीफ है।
आराधना भार्गव, अधिवक्ता

अच्छे लोग आगे आएं
पत्रिका ने अच्छा विषय चुना है। राजनीति को स्वच्छ करने के लिए मैं पत्रिका को इसके लिए धन्यवाद देता हूं। राजनीति में अपराध से जुड़े हुए लोग ही है, एेसा सोचना गलत है। कई राजनेता एेसे भी है जो आज भी अच्छा काम कर रहे हैं। राजनीति को साफ सुथरी बनाने के लिए अच्छे लोगों को सामने आना होगा।
सुरेश कपाले, अधिवक्ता

कमाई का जरिया
पहले के राजनेता राजनीति जनता की सेवा के लिए किया करते थे। अब लोग राजनीति में केवल रुपए कमाने के लिए आ रहे हैं। राजनीतिक दलों में एेसे लोगों की संख्या बहुत अधिक है। अच्छे विचारों वाले लोग प्रवेश नहीं कर पाते। साफ छवि वाले लोगों के लिए भी रास्ता खोजना होगा, जिससे वे सामने आ सके।
राजू वानखेड़े, अधिवक्ता

आपराधिक रिकॉर्ड वालों का चयन न हो
राजनीति में आपराधिक रिकॉर्ड वाले लोगों को ज्यादा तवज्जो दिया जाता है। ऐसे लोगों राजनीति में कद भी बड़ा होता है। एेसे लोगों के चयन पर रोक लगानी होगी। आम जनता इसके लिए बड़ी पहल कर सकती है। पढ़े लिखे लोगों को मौका दिया जाना चाहिए।
जावेद खान, अधिवक्ता

जनता आगे आए
साफ सुथरी राजनीति के लिए जनता को आगे आना होगा। एेसे लोगों का चयन करना होगा जिनकी छवि अच्छी है। या फिर अच्छी छवि वाले लोगों को राजनीति में मौका दिया जाना चाहिए। पहल कोई भी करें लेकिन चुनती आखिर जनता ही है। प्रत्येक वोटर को जागरूक करने की जरूरत है।
अमित मेहता, अधिवक्ता

परोपकार नहीं रहा
किसी भी दल की बात करें या फिर राजनेता की कोई पास का रुपया लगाकर परोपकार नहीं कर रहा। परोपकार की राजनीति खत्म हो चुकी है। जो भी इस क्षेत्र में आता है वह परोपकार से ज्यादा स्वार्थ के लिए काम करता है। सुधार की बहुत ज्यादा जरूरत है। इसके लिए सभी को एक साथ कदम उठाना होगा, जिससे राजनीतिक दलों में सुधार हो सके। अच्छे लोगों को मौका मिल इसके लिए प्रयास किए जाएं।
एचडी वर्मा, अधिवक्ता

नेताओं के बिगडऩे का कारण जनता
नेताओं के बिगडऩे का कारण जनता है। अच्छी और साफ सुथरी राजनीति के लिए राजनेता को जागरूक और जनता को जागरूक एवं सजग होने की जरूरत है। अधिकांश नेताओं पर अपराधिक प्रकरण दर्ज है, केस चल रहे फिर भी पार्टी उन्हें टिकट देती है और जनता उन्हें चुन लेती है। पार्टी एेसे लोगों को टिकट न दें या फिर जनता उन्हें वोट न दें। इससे बिगड़े हुए नेता राजनीति नहीं कर पाएंगे।
राकेश सरवरिया, अधिवक्ता

शैक्षणिक योग्यता जरूरी
राजनीति में शैक्षणिक योग्यता तय होनी चाहिए। योग्यता का जब तक निर्धारण नहीं होगा तब तक स्वच्छ राजनीति की कल्पना नहीं की जा सकती। चुनाव आयोग कदम उठाया जाना चाहिए।
हिमेश शुक्ला, अधिवक्ता

अच्छे लोगों को मौका
साफ सुथरी छवि और अच्छे लोगों को राजनीति में मौका दिया जाना चाहिए। अच्छे लोगों को भी आगे आने के लिए प्रयास करना चाहिए। उनकी छवि समाज के सामने आए और लोग उन्हें चुनें एेसा करना होगा।
हरीश बात्री, अधिवक्ता

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned