पिता के खिलाफ युवा चेहरा तो पुत्र के सामने होगा वरिष्ठ आदिवासी नेता

पिता के खिलाफ युवा चेहरा तो पुत्र के सामने होगा वरिष्ठ आदिवासी नेता
Chhindwara Lok Sabha candidate

Prabha Shankar Giri | Updated: 07 Apr 2019, 07:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

लम्बे इंतजार के बाद भाजपा ने घोषित किए उम्मीदवार, कल रहेगी नामांकन रैली

छिंदवाड़ा. मुख्यमंत्री कमलनाथ के सामने भाजपा से विवेक बंटी साहू उम्मीदवार होंगे तो वहीं उनके पुत्र नकुल नाथ के खिलाफ लोकसभा सीट से पूर्व विधायक नत्थन शाह चुनाव लड़ेंगे। भाजपा संसदीय बोर्ड ने शनिवार को उनके नाम घोषित कर दिए। इसके साथ ही निराश-मायूस भाजपा कार्यकर्ताओं में उत्साह का वातावरण बन गया है। दोनों उम्मीदवार आठ अप्रैल को सुबह 11 बजे नामांकन भरेंगे।
मप्र के पहले चरण के इस चुनाव में अभी तक छिंदवाड़ा संसदीय सीट और विधानसभा उपचुनाव की भाजपा टिकट रुकी हुई थी। टिकट मंथन के दौर में प्रदेश नेतृत्व पहले गोंडवाना नेता मनमोहन शाह बट्टी को टिकट देना चाहता था, लेकिन स्थानीय नेताओं के विरोध के चलते यह नहीं हो सका। फिर बाद में आदिवासी नेताओं की तलाश में जुन्नारदेव के पूर्व विधायक नत्थन शाह का नाम टिकट की पैनल में शामिल किया गया। शाह के नाम पर भाजपा संसदीय बोर्ड ने मुहर लगाई और उन्हें प्रत्याशी घोषित किया। इसी तरह छिंदवाड़ा विधानसभा उपचुनाव में पहली बार युवा चेहरे के रूप में विवेक बंटी साहू को प्राथमिकता दी गई है। भाजपा के लोकसभा संयोजक शेषराव यादव ने बताया कि टिकट घोषणा के बाद पार्टी में उत्साह का माहौल है। दोनों उम्मीदवार आठ अप्रैल को सुबह 11 बजे कलेक्ट्रेट पहुंचकर नामांकन दाखिल करेंगे।
वादाखिलाफी को लेकर उतरेंगे मैदान में: शाह
लोकसभा उम्मीदवार नत्थन शाह ने पत्रिका से चर्चा में कहा कि भाजपा प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा कर्जमाफी, भावांतर राशि तथा बेरोजगार भत्ता देने के वादों को पूरा न करने को लेकर आम जनता के बीच जाएगी। इसके साथ मोदी सरकार और पूर्ववर्ती शिवराज सरकार की उपलब्धियों को बताया जाएगा। शाह ने कहा कि पार्टी नामांकन के बाद जोर-शोर से प्रचार में जुटेगी।

विधानसभा में काटा तो लोकसभा में दिया टिकट
जुन्नारदेव के पूर्व विधायक नत्थन शाह संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी होंगे। वे कांग्रेस के उम्मीदवार नकुलनाथ को चुनौती देंगे। जुन्नारदेव के समीप ग्राम पनारा के रहने वाले 56 वर्षीय शाह ग्यारहवीं पास हंै। उन्होंने कोयलांचल के श्रमिक संगठनों से अपनी शुरुआत की थी। उसके बाद वर्ष 2013 से 18 तक वे जुन्नारदेव से विधायक रहे। वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में भाजपा नेतृत्व ने शाह की टिकट काट दी और नए चेहरे आशीष ठाकुर को टिकट दे दी। इसे शाह नाराज हो गए और उन्होंने पार्टी फोरम में विरोध भी दर्ज कराया था। अब भाजपा ने संसदीय क्षेत्र से आदिवासी वर्ग को प्राथमिकता देते शाह को चुना है।
सीएम कमलनाथ को चुनौती देंगे साहू
छिंदवाड़ा विस के उपचुनाव में भाजपा ने विवेक बंटी साहू को उम्मीदवार बतौर मैदान में उतारा है। वे कांग्रेस से उम्मीदवार मुख्यमंत्री कमलनाथ के सामने होंगे। साहू का नाम शहर के बड़े सराफा, ऑटोमोबाइल्स और होटल व्यवसायी में गिना जाता है तो वहीं साहू समाज के प्रमुख पदाधिकारी होने के नाते सामाजिक रूप से भी सक्रिय रहे हैं। उन्होंने राजनीतिक पारी की शुरुआत कांग्रेस के कार्यकर्ता के रूप में की थी। उसके बाद भाजपा की सदस्यता ली। फिर भाजयुमो के जिलाध्यक्ष पद पर रहे। उसके बाद भाजयुमो के प्रदेश पदाधिकारी का दायित्व सम्भाला। साहू पिछले विस चुनाव 2013 से छिंदवाड़ा विधानसभा की भाजपा टिकट के लिए प्रयासरत थे। वर्ष 2018 के विधानसभा में भी उन्हें टिकट नहीं मिली। इस चुनाव में निर्वाचित कांग्रेस विधायक दीपक सक्सेना के इस्तीफे के बाद हो रहे उपचुनाव में उन्हें टिकट मिली।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned