scriptchild was given birth in express train | एक्सप्रेस ट्रेन में बच्चे को दिया जन्म | Patrika News

एक्सप्रेस ट्रेन में बच्चे को दिया जन्म

शुक्रवार सुबह रेलवे स्टेशन पर अचानक रुकी दानापुर सिकंदराबाद एक्सप्रेस में उस वक्त हडक़ंप मच गया जब एक महिला को चलती ट्रेन में प्रसव के बाद उतारा गया।

छिंदवाड़ा

Published: December 25, 2021 07:10:28 pm

छिंदवाड़ा/पांढुर्ना . शुक्रवार सुबह रेलवे स्टेशन पर अचानक रुकी दानापुर सिकंदराबाद एक्सप्रेस में उस वक्त हडक़ंप मच गया जब एक महिला को चलती ट्रेन में प्रसव के बाद उतारा गया। महिला को यहां से सिविल अस्पताल में भर्ती किया गया। इस दौरान प्लेटफार्म नं 1 पर यात्रियों की भीड़ लग गई। मिली जानकारी के अनुसार ट्रेन नं 2792 में अपने परिवार के साथ सवार चांदनी पति संतोष साहनी जो सवस्तीपुर से सिंकदराबाद की यात्रा कर रही थी को देर रात ईटारसी के पास प्रसव पीड़ा होने लगी थी। इस दौरान महिला ने बैतुल-इटारसी के बीच स्वस्थ्य बालक को जन्म दिया। परिवार ने ट्रेन के टीटी को इस बात की सूचना दी जिसके बाद पांढुर्ना रेलवे स्टेशन पर 9.15 बजे ट्रेन रुकी प्रसव उपरांत महिला और बच्चे को रेलवे स्टेशन की जीआरपी पुलिस अमित षिवहरे और स्टेशन पर कैटिंग संचालक संदीप इंदौरकर व अन्य की मदद से सिविल अस्पताल में भर्ती किया गया। यहां चिकित्सकों ने जच्चा और बच्चा दोनों के सुरक्षित होने की बात कही है।
train
train
डिलेवरी पेसेंट से अभद्रता
सौंसर. सिविल अस्पताल में के कर्मचारियों के द्वारा डिलेवरी पेसेंट से अभद्रता एवं बहस करने की बात को लेकर नाराज युवाओं ने अस्पताल पहुंचकर शिकायत की गई।
मिली जानकारी के अनुसार गत रात्रि ग्राम जिरोला की गर्भवती महिला की डिलेवरी के लिए जिरोला आशा कार्यकर्ता ने सौंसर सिविल अस्पताल में और 108 पर बहुत से कॉल किए काफी देर बाद जब कॉल उठाया तो कर्मचारी द्वारा पेसेंट से बहस कर कुछ दुर तक करीब 2 किमी पैदल आने का कहा। वहीं बाद में वाहन आया न किसी ने कॉल उठाया। ऐसे में रास्ते में ठंड में महिला की डिलेवरी हो गई। इस मामले की शिकायत लेकर कुछ युवा शुक्रवार को अस्पताल पहुंचे। खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ. एन के शास्त्री को कर्मचारियों द्वारा किए गए व्यवहार के बारे में बताया। शिकायत सुनकर बीएमओ ने तुरंत ग्राम जिरोला में एम्बुलेंस पहुंचाई। जिसके बाद महिला पेसेंट को अस्पताल में लाया गया। युवाओं ने इस घटना को देख अस्पताल कर्मचारियों का विरोध किया। कहा कि इस तरह की घटना आगे न हो।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.