गांव के स्कूल में चमचमाती कार में कौन आया जानने उत्सुक हुए बच्चे

मोहखेड़ उत्कृष्ट विद्यालय में मंगलवार को गेट से आती चमचमाती कार को देख एकबारगी शिक्षक और विद्यार्थी आशंंका व जिज्ञासा से घिर गए। शायद कोई बड़ा अधिकारी आया है।

By: Sanjay Kumar Dandale

Published: 03 Mar 2021, 06:20 PM IST

छिंदवाड़ा/मोहखेड़. मोहखेड़ उत्कृष्ट विद्यालय में मंगलवार को गेट से आती चमचमाती कार को देख एकबारगी शिक्षक और विद्यार्थी आशंंका व जिज्ञासा से घिर गए। शायद कोई बड़ा अधिकारी आया है।
कार से उतरने वाला शख्स विद्यालय को हर तरफ से बड़े गौर से देख रहा था। उसने पूछा गौतम सर है क्या। जवाब हां में पाकर वह तेजी से प्रिंसिपल केबिन तक पहुंचा। अंदर आने की अनुमति ली और शिक्षक एस के गौतम और प्रकाश लिखितकर के पैरों में झुक गया।
बीस साल बाद अपने छात्र अनिल को देख कर दोनों शिक्षक विस्मित और आह्लादित थे। अनिल ने बताया वह अब अशोकनगर पॉलिटेक्निक कॉलेज में प्रोफेसर हैं और ये मुकाम मोहखेड़ स्कूल में हासिल शिक्षा के जरिए पाया है।
अवसर का लाभ उठाते हुए कैरियर गाइडेंस प्रभारी शिक्षक जगदीश ग्यार ने छात्र-छात्राओं को सभागार में सोशल डिस्टेंस के साथ बिठाया और कार्यशाला आयोजित की। प्रो. अनिल धकाते ने कहा गांवों के स्कूलों के बच्चे उम्मीदों के अंकुर हैं जो विपरीत हालातों में भी वृक्ष बन कर समाज को छाया, फ ल और जन्म भूमि को गौरव प्रदान करते हैं। उन्होंने छात्र- छात्राओं को चुनौतियों का सामना करने के लिए नई तकनीक का सहारा लेने की सलाह दी । उन्होंने कहा कि वर्तमान युग केवल किताबी ज्ञान का नही बल्कि अब इसके साथ कौशल का होना अत्यन्त जरूरी है। कार्यशाला में कृषि संकाय प्रमुख प्रकाश डहेरिया ने भी मार्गदर्शन प्रदान किया। स्कूल के पूर्व छात्र प्रो.अनिल को अपने बीच पा कर विद्यार्थियों ने प्रसन्नता जताई।
उल्लेखनीय है कि प्रो. अनिल मोहखेड़ में निर्धन परिवार में जन्मे और विषम परिस्थितियों में पले -बढ़े। स्कूली शिक्षा मोहखेड के सरकारी स्कूल में हुई । शिक्षकों के सहयोग से सत्र 1999 में 12वीं बोर्ड परीक्षा में प्रदेश की प्रवीणता सूची में 10 वीं रैंक हासिल की। बाद में दानियालन डिग्री कॉलेज के मेरिटोरियस फि जिक्स का अध्ययन किया।

Show More
Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned