Cleanliness survey 2021: जनवरी लगते ही शुरू हो जाएगी इम्तिहान की उल्टी गिनती, अब करनी होगी खासी मशक्कत

सफाई के साथ दिखाना होगा निस्तारण स्थल

By: prabha shankar

Updated: 26 Dec 2020, 06:13 PM IST

छिंदवाड़ा। चार दिन बाद नया साल 2021 लग जाएगा। इसके साथ ही स्वच्छता सर्वेक्षण के इम्तिहान की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी। केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय दिल्ली की टीम चार से 31 जनवरी के बीच कभी भी शहर आ सकती है। इसके लिए नगर निगम को अभी से ही मैदानी स्तर पर ठोस प्रयास कर दिखाने होंगे।
इस छह हजार अंकों की परीक्षा को चार भाग में बांटा गया है। इसमें आम जनता का फीड बैक महत्वपूर्ण माना गया है। पिछले बार के सर्वे में इस बिंदु पर ही कम अंक मिले थे। इस बार भी जन प्रतिक्रिया शायद ही ठीक आए।
कारण यह है कि स्वच्छता में शहर के नालों की गंदगी को ढंकने हरी नेट की जालियां लगाई गई थीं। इस बार वह दूर तक नजर नहीं आ रहीं हंै। इससे नालों के आसपास गंदगी और कचरे के ढेर दिखाई दे रहे है। पॉलीथिन भी बड़ी मात्रा में मौजूद है। इसका कचरा लगातार बढ़ता जा रहा है। वार्ड में सफाई जरूर हो रही है, लेकिन कर्मचारियों की लापरवाही बनी हुई है। नलियों की सफाई पर वे ध्यान नहीं दे रहे है। इन सभी कमियों को अभी से ही दूर किए जाने की आवश्यकता है।
हाल ही में कलेक्टर ने निगम अधिकारियों की बैठक ली थी और स्वच्छता पर ध्यान केंद्रित करने को कहा था। साफ है कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 का इम्तिहान नगर निगम को देना है और निगम के पास पिछले रिकॉर्ड को बरकरार रखने की चुनौती है। यदि यह रिकॉर्ड दोबारा रिपीट नहीं हुआ तो छिंदवाड़ा शहर को काफी बदनामी सहनी पड़ेगी।

जामुनझिरी का कचरा प्लांट बनेगा बाधा
जामुनझिरी में कचरा प्रोसेसिंग प्लांट अभी तक शुरू नहीं हो पाया है। नगरनिगम आयुक्त द्वारा फर्म को कई बार प्लांट शुरू करने के नोटिस दिए जा चुके हैं और व्यक्तिगत रूप से फटकार भी लगाई गई है। इसके बाद भी एजेंसी के कर्ताधर्ता अभी तक प्लांट का संचालन शुरू नहीं कर पाए हैं। यह लापरवाही स्वच्छता सर्वेक्षण में परेशानी का सबब बन सकती है।

Show More
prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned