scriptविकास के कोई काम बाधित नहीं होंगे : मुख्यमंत्री डॉ. यादव | cm dr mohan yadav in pandhurna district jansamvad | Patrika News

विकास के कोई काम बाधित नहीं होंगे : मुख्यमंत्री डॉ. यादव

locationछिंदवाड़ाPublished: Dec 19, 2023 07:54:38 pm

Submitted by:

mantosh singh

लापरवाहों को कोई छूट नहीं, सीएम ने जनसंवाद के पूर्व गांगो दाई का किया पूजन

cm.jpg

छिंदवाड़ा . प्रदेश के नवनियुक्त मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव मंगलवार को जिला पांढुर्ना पहुंचे। पांढुर्ना जनपद के जनजातीय ग्राम पाठई में ग्रामीणों से जनसंवाद किया। जनसंवाद कार्यक्रम का आयोजन ग्राम पंचायत भवन के समीप स्थित परिसर में किया गया था। जनसंवाद के दौरान उन्होंने ग्रामीणों से वन टू वन चर्चा की और ना केवल उनकी समस्याओं को जाना, बल्कि उनके निराकरण के सुझाव लेकर हर संभव प्रयास के लिए आश्वस्त किया।

मुख्यमंत्री डॉ. यादव के ग्राम पाठई पहुंचने पर उत्साहित जनजातीय ग्रामीणों ने गेंडी लोक नृत्य और ढोल बाजे से उनका आत्मीय स्वागत किया। जनसंवाद के पूर्व उन्होंने ग्राम पाठई के जनजातीय देव स्थल गांगो दाई की पूजा अर्चना कर आशीर्वाद भी प्राप्त किया। कार्यक्रम की शुरुआत कन्या पूजन और मां सरस्वती के पूजन से की गई। मुख्यमंत्री को जनप्रतिनिधियों ने जामसांवली के श्री हनुमान मंदिर का चित्र स्मृति स्वरूप भेंट किया।

जनसंवाद में मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने ग्रामीणों को शासकीय योजनाओं का लाभ मिल रहा है या नहीं, कृषक कौन-कौन सी फसलें उत्पादित करते हैं आदि की जानकारी प्राप्त की। कृषक राहुल कुमार वसूले ने मुख्यमंत्री डॉ. यादव को बताया कि प्रधानमंत्री मोदी की प्रेरणा से वे वर्ष 2018 से लगभग 10 एकड़ जमीन में प्राकृतिक खेती कर रहे हैं। जिसमें प्राकृतिक पद्धति से सब्जियों और 9 प्रकार के अन्न का उत्पादन कर लाभ कमा रहे हैं। प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्यम योजना का लाभ लेकर एक यूनिट की स्थापना की है, जिसमें नवरत्न आटा और मल्टीग्रेन आटा तैयार करने का कार्य भी कर रहे हैं। उन्होंने प्राकृतिक खेती के उत्पादों को और बेहतर मूल्य दिलाने का सुझाव दिया, जिससे अन्य कृषक भी प्रेरित होकर भूमि और प्रकृति की सुरक्षा में सहयोग दे सकें। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कृषक वसूले द्वारा की जा रही प्राकृतिक खेती की सराहना की ।

ग्रामीणों ने क्षेत्र में कपास और संतरे की अच्छी उत्पादकता की जानकारी दी और मुख्यमंत्री डॉ. यादव से संतरे का उचित मूल्य दिलाने, कपास में लगे टैक्स को दूर करने, बिजली के वोल्टेज की समस्या को दूर करने की मांग की। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि आपकी समस्यायें दूर करने के लिये ही मैं भोपाल से आपके गांव आया हूं। यह तो केवल शुरुआत है। आपके बीच पहुंचकर आपसे बात अब लगातार होगी। आपकी परेशानी, कठिनाई को आपसे जानकर, समझकर उसे दूर करेंगे। बुजुर्गों, महिलाओं, गरीबों, युवा सभी के लिए जिस तरह प्रधानमंत्री मोदी कार्य कर रहे हैं, उसी तरह हम भी आपके विकास के लिये लगातार कार्य करेंगे। विकास के कोई काम बाधित नहीं होंगे।

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने लोगों से कहा कि इस चर्चा का नाम जनसंवाद दिया है। नये तथा छोटे जिलों की कई नई कठिनाइयां हैं, उनकी समस्याओं को दूर करना भी अपना दायित्व है। इसीलिए आप सभी के बीच लगातार आता रहूंगा और आपकी कठिनाइयों, समस्यायों को दूर करूंगा। आप सभी मेरे भाई-बहन हैं। उन्होंने ग्रामीणों के लिए उपयोगी जानकारी देते हुए बताया कि जमीन की रजिस्ट्री के बाद अब नामांतरण के लिये पटवारी के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। एक बार रजिस्ट्री हो गई, तो पटवारी को खुद नामांतरण करना होगा। लापरवाहों को कोई छूट नहीं मिलेगी।

उन्होंने कलेक्टर से भी कहा कि इस दिशा में प्रभावी कदम उठायें और शासन के प्रत्येक निर्देशों का पालन सुनिश्चित कराएं। शासकीय अधिकारी कर्मचारी आमजन की समस्याओं का पूरी संवेदनशीलता के साथ निराकरण करें। जनता के हित के लिये जो बेहतर होगा वे उसे करने के लिये प्रतिबध्द हैं। लापरवाही पर किसी को भी कोई छूट नहीं है, कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

ट्रेंडिंग वीडियो