कोयला उद्योग बचाने किया प्रदर्शन

कोयला उद्योग बचाने किया प्रदर्शन

SACHIN NARNAWRE | Updated: 14 Aug 2019, 05:04:36 PM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

धरना प्रदर्शन में वेकोलि के समस्त क्षेत्रों से बीएमएस पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता शामिल हुये।

परासिया. बीएमएस महामंत्री कुंवर सिंह ने बताया कि संगठन द्वारा आन्दोलन नोटिस के चतुर्थ चरण में मंगलवार दोपहर एक बजे वेकोलि मुख्यालय नागपुर के समक्ष धरना प्रदर्शन कर सार्वजनिक क्षेत्र के सम्बंध में नीति आयोग एवं भारत सरकार की विनिवेश, निजीकरण नीति के विरोध में धरना दिया गया तथा सायं 4 बजे सीएमडी के माध्यम से प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा गया।
धरना प्रदर्शन में वेकोलि के समस्त क्षेत्रों से बीएमएस पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता शामिल हुये। प्रदर्शन में अखिल भारतीय खदान मजदूर संघ के महामंत्री सुधीर घुरडे, वेकोलि प्रभारी शिवदयाल बिसन्दरे, प्रदेश मंत्री राकेश चतुर्वेदी, वेकोलि टीएससी सदस्य नारायणराव सराठकर, वेकोलि कल्याण मण्डल सदस्य एपी सिंह, पेंच-कन्हान अध्यक्ष सुखअमृत पारस, महामंत्री कुंवर सिंह सहित वेकोलि की सभी रजिस्टर्ड ट्रेड यूनियनों के अध्यक्ष, महामंत्री शामिल हुए। ज्ञापन में शामिल प्रमुख मांगो में सार्वजनिक क्षेत्रों का अधिक विनिवेश तत्काल बंद किया जाये। बीमार/कमजोर पीएसयू का पुर्नउद्धार किया जाये। श्रम सुधार के नाम पर मजदूरों को पूर्व में प्राप्त प्रोटेेक्टिव प्रावधानों को समाप्त अथवा कमजोर न किया जाय, बल्कि स्थाई समाधान के लिये हायर फ ायर की नीतियों पर लगाम लगाया जाये। आउट सोर्सिंग के नाम पर श्रम कानूनों को असंगत बनाना बंद किया जाय, तथा सभी अधूरे व नये श्रमिक क्षेत्रों को कानून के दायरे में लाया जाये।
कोल इंडिया में औेर अधिक विनिवेश बंद किया जाये। कोल इंडिया के विभाजन के प्रस्ताव या प्रयास पर विराम लगाया जाये, तथा टीएल शंकरन कमेटी की अनुशंसा के अनुसार सभी कम्पनियों का मर्जर कर एक कम्पनी बनाया जाये। कैप्टिव कोल माईन को कामर्शियल माइनिंग की अनुमति नहीं दी जाये। पूरे कोयला उद्योग में कोल इंडिया को स्टेन्डर्ड मानकर श्रमिकों के वेतन, भत्ते, सामाजिक सुरक्षा दिया जाना सुनिश्चित किया जाये।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned