बीएससी की छात्राओं ने विवि एवं कॉलेज के खिलाफ जताई नाराजगी

बीएससी की छात्राओं ने विवि एवं कॉलेज के खिलाफ जताई नाराजगी

Ashish Kumar Mishra | Publish: Apr, 16 2019 02:06:29 PM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

सितंबर-2018 में बीएससी चतुर्थ सेमेस्टर का परिणाम आया था।

 

छिंदवाड़ा. राजमाता सिंधिया गल्र्स कॉलेज की बीएससी की छात्राओं ने सोमवार को रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के मनमाने रवैए पर नाराजगी जताते हुए नारेबाजी की। छात्राओं का कहना था कि सितंबर-2018 में बीएससी चतुर्थ सेमेस्टर का परिणाम आया था। जिसमें लगभग 25 छात्राओं के बैक आ गए। छात्राओं ने आरोप लगाया कि परिणाम के बाद प्राचार्य डॉ. पीआर चंदेलकर ने आश्वस्थ किया था कि आप सभी एटीकेटी छात्राओं के साथ ही परीक्षा फॉर्म भरकर चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा दे देना, लेकिन अब वे अपने कहे गए शब्दों से मुकर गए हैं। वहीं विश्वविद्यालय ने 8 अप्रैल से एटीकेटी के विद्यार्थियों को परीक्षा फॉर्म भरने के लिए पोर्टल ओपन किया, लेकिन जिन विद्यार्थियों का बैक लगा है उनके लिए पोर्टल ओपन नहीं हो रहा है। सोमवार को परीक्षा फॉर्म भरने की अंतिम तिथि थी। ऐसे में चतुर्थ सेमेस्टर में फेल हुई छात्राओं ने छात्रासंघ अध्यक्ष रेशमा खान के नेतृत्व में विवि एवं कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ नाराजगी जताई। छात्राओं का कहना था कि अगर हमें एटीकेटी छात्राओं के साथ परीक्षा फॉर्म भरने का मौका नहीं दिया गया तो वे प्रदर्शन को बाध्य होंगी।

अगले साल द्वितीय वर्ष की देनी होगी परीक्षा
छात्राओं का कहना है कि कॉलेज प्राचार्य को जब समस्या से अवगत कराया गया तो उन्होंने कहा कि आप सभी अब अगले वर्ष स्नातक द्वितीय वर्ष की परीक्षा देनी होगी। अगर ऐसा हुआ तो फिर इन बीएससी की छात्राओं को स्नातक की डिग्री तीन वर्ष की जगह पांच वर्ष में मिलेगी।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned