College. कॉलेज विद्यार्थियों को लाखों खर्च के बाद नहीं मिली यह तीन सुविधा

आधुनिक लाइब्रेरी भवन के लिए भी लाखों रुपए खर्च किए जा चुके हैं।

By: ashish mishra

Published: 07 Mar 2020, 11:28 AM IST

छिंदवाड़ा. पीजी कॉलेज में भले ही विद्यार्थियों के नाम पर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग(यूजीसी), उच्च शिक्षा विभाग, विश्व बैंक परियोजना मद से लाखों रुपए आ रहे हों, लेकिन हकीकत में विद्यार्थियों के लिए इन पैसों का उपयोग नहीं हो पा रहा है। पीजी कॉलेज में इंडोर स्टेडियम से पहले आउटडोर स्टेडियम और आधुनिक लाइब्रेरी भवन के लिए भी लाखों रुपए खर्च किए जा चुके हैं। अत्याधुनिक आधुनिक लाइब्रेरी भवन तैयार तो हुई, लेकिन इस भवन का लाभ एक दिन भी विद्यार्थियों को नहीं मिल पाया। लाइब्रेरी भवन का उपयोग छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय के प्रशासनिक कार्य संचालन के लिए किया जा रहा है। जानकारों की मानें तो छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय को अपना भवन बनाने में अभी तीन से चार साल लगेंगे तब तक प्रशासनिक कार्य पीजी कॉलेज के अत्याधुनिक लाइब्रेरी भवन में ही संचालित किए जाएंगे। इसके अलावा 36 लाख रुपए खर्च होने के बावजूद भी कॉलेज में आउटडोर स्टेडियम नहीं बन पाया। इस मामले में तो पूरी लीपापोती कर दी गई। विद्यार्थियों का कहना है कि हमलोगों को सुविधा देने के नाम पर जिम्मेदारों ने लाखों रुपए खर्च कर दिए। हमें न आउडटोर स्टेडियम मिला और न ही अत्याधुनिक लाइब्रेरी। अब इंडोर स्टेडियम का भी यही हाल हो रहा है।

जांच पर टिकी है विद्यार्थियों की निगाहें
गौरतलब है कि पीजी कॉलेज में यूजीसी एवं उच्च शिक्षा विभाग के मद से विद्यार्थियों को खेलने के लिए 93 लाख रुपए की लागत से इंडोर स्टेडियम बनाना था। इस स्टेडियम में मल्टीपर्पज हॉल, टेबल टेनिस सहित अन्य सुविधा दी जानी थी। पीआईयू द्वारा इंडोर स्टेडियम बनाने का कार्य वर्ष 2013 में शुरु किया गया था। छह साल बीत जाने के बाद भी स्टेडियम खिलाडिय़ों के खेलने लायक नहीं बन पाया। कार्य अभी भी अधूरे हैं। ऐसे में कॉलेज के विद्यार्थी ने इस पर सवाल खड़ा करते हुए कॉलेज प्राचार्य से मामले की जांच की मांग की है। विद्यार्थियों की निगाहें जांच रिपोर्ट पर टिकी हुई हैं। विद्यार्थियों का कहना है कि हमें सुविधा देने के नाम पर पैसे मंगाए जा रहे हैं और एक के बाद एक कार्यों में लापरवाही बरती जा रही है। जांच रिपोर्ट आने के बाद अगर दोषियों पर कार्यवाही नहीं होती है तो वे सडक़ पर उतरकर प्रदर्शन करेंगे।

ashish mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned