कांग्रेस का बंद बेअसर, नेताओं में तनातनी

कांग्रेस का बंद बेअसर, नेताओं में तनातनी

Sanjay Kumar Dandale | Publish: Sep, 11 2018 06:00:00 PM (IST) Chhindwara, Madhya Pradesh, India

तामिया मुख्य बाजार के व्यापारियों का बंद को समर्थन नहीं मिलने के कारण बंद का कोई असर नहीं रहा।

तामिया . पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेस का भारत बंद सोमवार का कोई असर नहीं दिखा। तामिया मुख्य बाजार के व्यापारियों का बंद को समर्थन नहीं मिलने के कारण बंद का कोई असर नहीं रहा। रोजमर्रा की तरह ही व्यापारियों ने निर्धारित समय में ही दुकान खोली, बंद का औपचारिकता करने के लिए आधे दर्जन से कम कांग्रेसी ब्लॉक अध्यक्ष मनमोहन साहू, नगर अध्यक्ष बल्लू सोनी, डोब सरपंच सिरसु उइके, आकाश मंडराह ने सुबह 8.30 बजे बंद का औपचारिक प्रदर्शन करके केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। गौरतलब है कि तामिया कांग्रेस का गढ़ माना जाता है यहां अधिकतर कांग्रेसियों की ही दुकाने ही खुली दिखाई दी।
कांग्रेसियों ने सुबह 8.30 बजे मुख्य बाजार के पीछे वाली दुकानों में पहुंचकर प्रदर्शन किया। गौरतलब है कि होटल को छोड़कर बाकी अन्य दुकान सुबह 9 बजे के बाद ही खुलना प्रारंभ होती है। इस मामले में कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष मनमोहन साहू का कहना है कि बंद का प्रयास किया गया था लेकिन लोगों ने बंद का समर्थन नहीं किया।

नगर में माहौल गर्म रहा

जुन्नारदेव. देश में पेट्रोलियम पदार्थों मसलन पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के तेजी से बढ़ते दामों के खिलाफ कांग्रेस के राष्ट्रव्यापी बंद को लेकर सोमवार सुबह से ही नगर में माहौल गर्म रहा। जहां एक और कांग्रेस बंद के समर्थन में व्यापारियों से उनके प्रतिष्ठान बंद करने का निवेदन करते नजर आए तो वहीं इसके ठीक उलट भाजपा ने व्यापारियों से जबरन करवाए जा रहे बंद का विरोध करते हुए मोर्चा संभाल लिया।
आखिरकार प्रात: 11 बजे कांग्रेस नेताओं ने महामहिम राज्यपाल के नाम थाना परिसर में एसडीएम रोशन राय को ज्ञापन सौंपा। इस दरमियान बाजार का अंदरूनी दुकाने खुल चुकी थी।
इससे पहले सुबह से ही अपने बंद के समर्थन में कांग्रेस के समस्त नेता एकजुट होकर पुराना बस स्टैंड पर जुट चुके थे। बंद के समर्थन में नारे लगाते हुए कांग्रेस ने अभियान शुरू कर दिया। वहीं भाजपा भी मैदान में उतर गई और वह बाजार खुलवाने की दिशा में बढ़ गई। राजस्व प्रशासन के अधिकारी सहित पुलिस अधिकारियों ने मोर्चा संभाल कर तनातनी के बन रहे इस माहौल में हस्तक्षेप कर दोनों ही पक्ष को अलग-अलग कर दिया। यहां भाजपा नेताओं की कथित रूप से एसडीएम और एसडीओपी से तीखी नोकझोंक भी हुई।
कांग्रेस की ओर से बंद के दौरान ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष घनश्याम तिवारी, सुनील उईके, सतीश नारायण शुक्ला, अखिलेश शुक्ला, सुधीर लदरे, रामदास उइके, आलोक मुखर्जी, उपेंद्र शर्मा, सुरेंद्र ठाकुर सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसी नेता उपस्थित थे। वहीं दूसरी ओर भाजपा के दल में शंकर लाल सेन, आदर्श शर्मा, विष्णु शर्मा, तरुण जैन, नीतेश राजपूत, दीपेश जैन, संजय जैन, विशेष चौरसिया, राजकुमार यादव आदि उपस्थित रहे।

 

 

Ad Block is Banned