भावांतर को लेकर नया निर्णय लेगी कांग्रेस, हो सकता है कुछ ऐसा...

भावांतर को लेकर नया निर्णय लेगी कांग्रेस, हो सकता है कुछ ऐसा...
Congressional decision on Bhawantar

Prabha Shankar Giri | Updated: 21 Jan 2019, 07:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

सरकार सरकार के निर्णय पर किसानों की निगाहें

छिंदवाड़ा. जिले के किसान प्रदेश में कांग्रेस की सरकार के निर्णय की प्रतीक्षा में हैं कि वह भावांतर भुगतान योजना पर क्या नया निर्णय लेती है। ध्यान रहे 19 जनवरी को मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना में मक्का की खरीदी का काम खत्म हो चुका है। पूर्व की भाजपा सरकार ने भावांतर योजना की शुरुआत की थी और योजना के तहत मॉडल रेट के हिसाब से किसानों को प्रति क्विंटल के हिसाब से 500 रुपए अतिरिक्त भुगतान करने का निर्णय लिया था।
यह योजना क्रियान्वित होती इससे पहले ही विधानसभा चुनाव में सरकार बदल गई और कांग्रेस ने सत्ता सम्भाल ली थी। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने गत दिनों
भावांतर भुगतान योजना में कुछ परिवर्तन कर लागू करने की बात कही है। क्या परिवर्तन होता है और किसानों को कितना लाभ दिया जाएगा इस सम्बंध में अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है।

एक लाख से ज्यादा किसानों ने कराया था पंजीयन
गौरतलब है मक्का के इस सीजन में जिले के एक लाख से ज्यादा किसानों ने भावंातर भुगतान योजना में मक्का बेचने के लिए अपना पंजीयन कराया था। मक्का बेचने के लिए किसानों के पंजीयन का जिले में यह रेकॉर्ड है। जिले में 80 हजार से ज्यादा किसानों ने भावांतर भुगतान योजना में मंडी परिसरों में जाकर अपना मक्का बेचा है। किसानों को नीलामी में बिकी राशि तो मिल रही है, लेकिन भावांतर भुगतान को लेकर संशय बना है।

60 लाख क्विं. से ज्यादा मक्का आया मंडियों में
मक्का की खरीदी में इस बार जिले की मंडियों में 60 लाख क्विंटल से ज्यादा मक्का किसानों ने बेचा है। भांवातर भुगतान के लिए सरकार ने यह शर्त रखी थी कि उन्हें मंडियों में जाकर ही मक्का बेचना पड़ेगा। यही कारण है कि जिले की मंडियों में इस बार रेकॉर्ड आवक हुई है। इतनी बड़ी मात्रा में मक्का अब तक मंडियों में नहीं आया था। 60 लाख क्विंटल ही मानें तो 500 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से सिर्फ जिले में तीन अरब रुपया किसानों को देना होगा। नई सरकार के सामने बजट की भी समस्या है। ऐसे में इस योजना को किस तरह सरकार क्रियान्वित करेगी यह देखना होगा।

भावांतर योजना में भुगतान किस तरह किया जाना है इसको लेकर सरकार की तरफ से गाइडलाइन अभी नहीं आई है। योजना खत्म होने के बाद अब उच्चस्तर की बैठक में निर्णय लिया जाना है। उसके बाद जो निर्देश मिलेंगे उस आधार पर किसानों को भुगतान किया जाएगा।
-केपी भगत, उपसंचालक कृषि

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned