रिकॉर्ड की उम्मीद: लगातार बढऩे लगी गेहूं की आवक

prabha shankar

Publish: Apr, 17 2018 10:56:50 AM (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
रिकॉर्ड  की उम्मीद: लगातार बढऩे लगी गेहूं की आवक

शनिवार- रविवार खरीदी बंद होने से सोमवार को होती है ज्यादा आवक

छिंदवाड़ा .खरीदी केंद्रों में अब गेहूं की आवक दर्ज की जाने लगी है। 98 खरीदी केंद्र शुरू होने के साथ ही अब तक ढाई लाख क्विंटल गेहूं की आवक दर्ज की जा चुकी है जो आने वाले दिनों में और बढ़ेगी। शनिवार व रविवार को उपार्जन केंद्रों में खरीदी नहीं की जाती है जिसके कारण सप्ताह के पहले दिन सोमवार को आवक में तेजी दर्ज की जाती है। सोसायटियों व वेयर हाउस में बनाए गए खरीदी केंद्रों में बारिश से गेहूं के बचाव के इंतजाम करने के आदेश शासन पहले ही दे चुका है।

गौरतलब है कि मौसम खराब होने के कारण किसान उपार्जन केंद्र नहीं पहुंच रहे थे। मौसम के खुलते ही आवक में तेजी दर्ज की जाने लगी है। सहायक आपूर्ति अधिकारी डीके मिश्रा ने बताया कि शनिवार तक खरीदी केंद्रों में गेहूं की आवक ढाई लाख क्विंटल दर्ज की गई थी। मौसम खुलने के साथ ही अब किसान उपार्जन केंद्रों का रुख करने लगे हैं। प्रबंधकों को प्रांगण में गेहूं को बारिश से बचाव करने के निर्देश दे दिए गए हैं।

रिकॉर्ड आवक की उम्मीद
उपार्जन केंद्रों में गेहूं की आवक दर्ज की जाने लगी है इस वर्ष रिकार्ड गेहूं की आवक की उम्मीद लगाई जा रही है। उपार्जन केंद्रों के साथ मंडियों में भी गेहूं की आवक हो रही है। बताया जा रहा है कि कुचिया व्यापारी ग्रामीण क्षेत्रों से गेहूं की खरीदी कर मंडी में बेच रहे है। लेकिन किसान उपार्जन केंद्र पहुंच रहे है।

मानमनोव्वल के बाद लगी बोली, 400 से 2000 का रहा भाव
छिंदवाड़ा. गुरैया मंडी में सोमवार को सात सौ क्विंटल लहसुन की आवक दर्ज की गई। किसानों को 400 से 2000 का भाव मिला। मंडी प्रबंधन काफी मानमनोव्वल के बाद मंडी में लहसुन की बोली लगवा पाया है। किसानों को शुरुआत में अच्छे रेट नहीं मिल पा रहे थे, जिसके कारण वे अपना लहसुन व्यापारियों को नहीं बेच रहे थे। किसानों का कहना है कि लहसुन में किसानों को कितना भावांतर मिलेगा इसकी जानकारी अभी तक नहीं मिल पाई है। हालांकि मंडी प्रबंधन 800 रुपए प्रति क्विंटल भावांतर मिलने की बात किसानों से कह रहा है।

Ad Block is Banned