किसानों को बड़ी सौगात, अब नहीं पड़ेगी हाइब्रिड की जरूरत

किसानों को बड़ी सौगात, अब नहीं पड़ेगी हाइब्रिड की जरूरत
Corn seed for farmers

Prabha Shankar Giri | Updated: 06 Jun 2019, 07:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

अनुसंधान केंद्र से मिलेगा अच्छी किस्म का बीज, जवाहर मक्का 216 उपलब्ध कराया किसानों को

छिंदवाड़ा. आंचलिक कृषि अनुसंधान केंद्र चंदनगांव में इस वर्ष मक्का उत्पादक किसानों के लिए केंद्र ने अपने यहां तैयार किए जवाहर मक्का 216 के बीज देने को तैयार है। केंद्र के पास 10 हजार किलो मक्का बीज तैयार है उसमें से 75 प्रतिशत बीज जिले के किसानों को दिया जा रहा है। मांग ज्यादा होने के कारण एक निश्चित मात्रा में बीज किसानों को दिया जा रहा है ताकि ज्यादा से ज्यादा किसान इसे अपने खेतों में बो सकें।
ध्यान रहे छिंदवाड़ा स्थित आंचलिक अनुसंधान केंद्र में मक्का पर विशेष तौर पर अनुसंधान कर नई किस्में तैयार की जाती है। मक्का की नई प्रजाति तैयारी करने में छिंदवाड़ा केंद्र का नाम पूरे देश में है। इस समय यह केंद्र सहसंचालक और वरिष्ठ मक्का वैज्ञानिक डॉ. विजय पराडकर के नेतृत्व में नई किस्में बनाने में लगा है। जवाहर मक्का की 216 नं की वेरायटी कई वर्षों से केंद्र किसानों को दे रहा है। इस बार मक्का पर कीट प्रकोप और हाइब्रिड मक्का की बढ़ती कीमतों के कारण इस मक्का की डिमांड बढ़ी है। अगले सीजन में एक और नई वेरायटी का मक्का किसानों के लिए उपलब्ध कराने की तैयारी केंद्र की है।

हाइब्रिज बीज से काफी सस्ता
डॉ. पराडकर ने बताया कि जवाहर मक्का 216 बाजार में बिकने वाले निजी कम्पनियों के हाइब्रिड मक्का से काफी सस्ता है। 69 रुपए प्रति किलो में मिलने वाला यह बीज तीन किलो, पंाच किलो,8 किलो के पैकेट में उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि बाजार में बिकने वाले मक्का के बीज और इसके दामों में भारी अंतर है। छोटे किसानों को तीन से आठ और बड़े किसानों को 40 किलो तक बीज दिया जा जा रहा है।

बड़बानी के किसानों को दे रहे बीज
केंद्र सरकार की आदिवासी क्षेत्र के किसानों को विशेष प्रोत्साहन योजना के तहत मक्का के बीज उपलब्ध कराए जा रहे हैं। प्रदेश के बड़वानी जिले में इस योजना में छिंदवाड़ा अनुसंधान केंद्र में तैयार मक्का के इस बीज को किसानों को बांटा जा रहा है। वहां के किसान इस मक्का की बोवनी कर अच्छी फसल ले रहे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned