Corona curfew : आठ अप्रैल से लागू कर्फ्यू को चौथी बार बढ़ाया

आपदा प्रबंधन समिति की बैठक के बाद कलेक्टर ने दिए कर्फ्यू बढ़ाने के आदेश: खेती कामकाज के लिए मुक्त रहेंगे किसान

By: prabha shankar

Published: 02 May 2021, 12:11 PM IST

छिंदवाड़ा। जिलेभर में अब कोरोना कर्फ्यू 17 मई को सुबह छह बजे तक प्रभावशील रहेगा। शनिवार को आपदा प्रबंधन समिति की बैठक के बाद कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन ने धारा 144 के तहत यह आदेश जारी किए। इस कफ्र्यू में पहले से जारी छूट को यथावत रखा गया है तो वहीं किसानों को खेती कामकाज के लिए मुक्त कर दिया गया है। वे अपने कामकाज आसानी से कर सकेंगे।
प्रदेश के सहकारिता और प्रभारी मंत्री डॉ.अरविंद भदौरिया की अध्यक्षता में हुई आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति पर विचार-विमर्श किया गया। इसके बाद कफ्र्यू को बढ़ाने का फैसला किया गया। बैठक के बाद भदौरिया ने कहा कि पहले से कोरोना संक्रमण कंट्रोल में है, लेकिन इसकी निरंतरता जारी रखने के लिए 17 मई तक कर्फ्यू आवश्यक है। इस पर विधायकों की भी सहमति ली गई है। यहां बता दें कि आठ अप्रैल से लागू कफ्र्यू को चौथी बार बढ़ाया गया है।

खाद्य सामग्री पर मंत्री का आश्वासन, फिर भी नहीं निकला आदेश, लोग होंगे परेशान
कोरोना कर्फ्यू में आम जनता को खाद्य सामग्री की परेशानी होने पर सहकारिता मंत्री का ध्यान दिलाया गया था, लेकिन कोरोना कर्फ्यू के प्रशासनिक आदेश निकले तो उसमें किराना खाद्य सामग्री की दुकानों के खोलने के बारे में कोई इंतजाम दिखाई नहीं दिए। उल्लेखनीय है कि आठ अप्रैल से लागू कर्फ्यू से गली-मोहल्लों की चिल्लर किराना दुकानों से लेकर गांधीगंज की थोक किराना और अनाज दुकानें बंद हैं। अपेक्षा की जा रही थी कि सप्ताह में एक दो दिन गांधीगंज की दुकानें खुलती हैं तो छोटे किराना दुकानदार मोहल्ले में होम डिलेवरी आसानी से कर सकते हैं। यहां तक कि आटा चक्कियां न खुलने से समस्या है। इस व्यवस्था के अभाव में समाज में असंतोष है तो वहीं महंगाई और काला बाजारी भी हो रही है। इस पर आपदा प्रबंधन समिति और प्रभारी मंत्री ने कोई निर्णय नहीं लेकर आम जनता को निराश किया है। कम से कम उनकी खाद्य सामग्री का इंतजाम कर देते तो कर्फ्यू की परेशानी को लोग जैसे-तैसे झेल रहे हैं।

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned