Corona Effect: अब बारिश के बाद ही गांवों तक ‘अमृत’

75 करोड़ की योजना प्रभावित, शासन ने दिसम्बर तक बढ़ाया समय

By: prabha shankar

Updated: 04 Aug 2020, 05:50 PM IST

छिंदवाड़ा/ करीब 75 करोड़ रुपए के ग्रामीण अमृत पेयजल प्रोजेक्ट में 24 गांवों को पानी अब बारिश के बाद ही उपलब्ध कराना सम्भव हो पाएगा। कोरोना संक्रमण से काम प्रभावित होते देखकर राज्य शासन ने प्रोजेक्ट की समयावधि दिसम्बर तक बढ़ा दी है।
पिछले 2017 से चल रही इस योजना के तहत नगर निगम के 24 गांवों में 18 पानी टंकी के माध्यम से नागरिकों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराना है। इस प्रोजेक्ट की समय अवधि 2019 में ही समाप्त हो गई, लेकिन उस समय आए पेयजल संकट की वजह से इसका समय बढ़ाना पड़ा। 2020 के फरवरी-मार्च में इसे पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन कोरोना लॉकडाउन के चलते योजना का काम प्रभावित हो गया। अब इसकी समयावधि दिसम्बर तक कर दिए जाने से साफ है कि ग्रामीणों को पानी के लिए छह माह और इंतजार करना होगा।

सर्रा में जल्द मिलेगी पानी टंकी की जमीन
प्रोजेक्ट में ग्राम सर्रा में जमीन का विवाद उलझने से टंकी का निर्माण अटका हुआ था। बताया जाता है कि प्रशासन स्कूल के समीप वाली जगह देने को तैयार हो गया है। जल्द ही इस स्थल पर भी पानी टंकी का निर्माण शुरू हो सकेगा। इंजीनियर विवेक चौहान ने बताया कि यह जमीन जल्द ही कलेक्टर की ओर से मिल जाएगी।

योजना में अब तक ये काम पूरे
प्रोजेक्ट में 25 किमी तक माचागोरा से धरमटेकड़ी फिल्टर प्लांट तक मेन पाइप लाइन, अजनिया में सम्पवेल तथा फिल्टर प्लांट, गांवों में 65 किमी डिस्ट्रीब्यूशन लाइन और 18 में से 17 पानी टंकियों में से ज्यादातर काम पूरा कर लिया गया है। पाइप लाइन और फिल्टर प्लांट तथा डिस्ट्रीब्यूशन लाइन को जोडऩे के लिए वाल्व, फलोमीटर, लाइटिंग, पंप, मशीन समेत इलेक्ट्रो-मैकेनिकल सामान, क्लोटीन, एलम और ब्लीचिंग आदि सामान मुम्बई से पहुंचने लगे हैं। जम्होड़ी पंडा के समीप माचागोरा बांध में इंटकवेल का निर्माण भी पूरा होने के करीब है।

इनका कहना है
अमृत प्रोजेक्ट में मुम्बई से तकनीकी और इलेक्ट्रॉनिक सामान की आपूर्ति शुरू हो गई है। फिर भी पेयजल टंकी समेत अन्य निर्माण को देखते हुए यह बारिश के बाद ही प्रोजेक्ट बारिश के बाद ही पूरा हो सकेगा।
-ईश्वर सिंह चंदेली, कार्यपालन यंत्री नगर निगम

Show More
prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned