कोरोना संक्रमित किडनी रोगियों का भी होगा डायलिसिस, पढ़ें पूरी खबर

- कोरोना वार्ड में स्थापित की गई नवीन यूनिट, आठ लाख रुपए की है लागत

By: Dinesh Sahu

Published: 23 Sep 2020, 02:39 PM IST

छिंदवाड़ा/ कोरोना संक्रमित किडनी रोगियों को जिला प्रशासन ने बड़ी राहत दी है। इसके चलते अब जिला अस्पताल के कोविड केयर हॉस्पिटल में भी मरीजों का डायलिसिस किया जा सकेगा। कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन के अथक प्रयासों से यह सफलता मिली है। बताया जाता है कि किडनी रोग से पीडि़त मरीजों की मदद के लिए प्रदेश के कुछ ही जिला अस्पतालों में पृथक डायलिसिस यूनिट है, जिनमें से एक छिंदवाड़ा का नाम भी शामिल हो गया है।

इस यूनिट को स्थापित करने के लिए करीब आठ लाख रुपए का खर्च किए गए है। उल्लेखनीय है कि छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस के नाम से जिला अस्पताल में अन्य जिलों से कोरोना संक्रमित मरीज रैफर किए जाते है, जिनमें कुछ मरीज किडनी रोगी होने से उन्हें डायलिसिस दिया जाना आवश्यक होता है। लेकिन जिला अस्पताल में संचालित हिमोडायलिसिस यूनिट में कोरोना संक्रमित मरीजों को उपचार दिए जाने का विरोध होने लगा तथा मरीजों के परिवारों ने शिकायत की, जिसके बाद जिला प्रसाशन ने उक्त सुविधा मुहैया कराई है।


निजी हॉस्पिटलों में बंद है सुविधाएं -


जिले के कुछ निजी हॉस्पिटलों में डायलिसिस की सुविधाएं उपलब्ध है। लेकिन अस्पताल में कोरोना मरीज मिलने और संक्रमण के भय से कुछ निजी हॉस्पिटल संचालकों ने मरीजों को सेवाएं देना बंद कर दिया है। इसके चलते किडनी रोगियों की जान पर बन आई है। जानकारी के अनुसार कुछ मरीजों ने शासन से मदद की गुहार लगाई है।


मरीजों की समस्या का किया गया समाधान -


किडनी मरीजों की समस्या के समाधान को ध्यान में रखते हुए सीएसआर से डायलिसिस मशीन का पूरा सेटऑप लगाया गया है, जो कि कोरोना वार्ड में स्थापित किया गया है।


- सौरभ कुमार सुमन, कलेक्टर छिंदवाड़ा

COVID-19
Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned