Corona: जिला अस्पताल में भी नहीं होंगे ऑपरेशन, जानें वजह

- असुरक्षा के बीच लोग बनवा रहे पर्ची और ले रहे दवा

छिंदवाड़ा/ नोवेल कोरोना वायरस संक्रमण के चलते 31 मार्च तक ऑपरेशन टाल दिए गए है तथा सर्दी-जुखाम और बुखार से पीडि़त मरीजों के लिए अलग से ओपीडी बनाई जा रही है। साथ ही सामान्य बीमार होने पर स्थानीय स्तर पर उपचार कराने तथा गंभीर होने की स्थिति में मरीज के साथ परिवार से कम से कम अटेंडर अस्पताल आएं, ऐसी अपील की जा रही है। सिविल सर्जन डॉ. पी. कौर गोगिया ने बताया कि मप्र स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग भोपाल के निर्देश पर उक्त निर्णय लिया गया है।

हालांकि इस दौरान अतिआवश्यक ऑपरेशन ही किए जा सकेंगे। विभागीय अधिकारियों का दावा है कि छिंदवाड़ा समेत मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण से प्रभावित फिलहाल कोई मरीज सामने नहीं आया है। हालांकि विदेशों से लौटने वाले लोगों की संख्या अब बीस हो गई है, जिन्हें अपने-अपने घरों में ही रखा गया है तथा स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार उनकी स्वास्थ्य मॉनिटरिंग की जा रही है।

सिविल सर्जन डॉ. गोगिया ने बताया कि जिले का कोई भी व्यक्ति विदेश से लौटता है, एयरपोर्ट प्रशासन द्वारा उसकी सूचना प्रदान की जाती है। इसके बाद उसी दिन स्वास्थ्य विभाग की टीम सम्पर्क बनाए रहती है।

मास्क की किल्लत, कपड़े के बनाने दिए आर्डर -


इधर जिला अस्पताल के कर्मचारियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ट्रिपललेयर मास्क पहनने के निर्देश दिए गए है। साथ ही किल्लत होने पर कपड़े के मास्क बनाने के आर्डर दिए गए है। वहीं लोगों से अपील की गई है कि वे मास्क पहनें तथा समय-समय पर हाथ धोएं।

असुरक्षा के बीच लोग बनवा रहे पर्ची और ले रहे दवा -

कोरोना वायरस को लेकर हर तरह दहशत का माहौल है, जिसके बावजूद अस्पताल में लोग गंभीर नहीं है तथा बिना मास्क या सेनेट्राइज्ड किए ओपीडी पंजीयन पर्ची बनवा रहे है। साथ ही दवाइयां लेने कतार में खड़े रहते है। इससे संक्रमण फैलने का भय बना रहता है।

Dinesh Sahu
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned