Corona: हर पंचायत में बनेगा 5-10 बिस्तरा का क्वॉरंटीन सेंटर, जानिए क्यों पड़ी जरूरत

जनपद पंचायत सीइओ ने ली बैठक: बाहर से आने वाले रहेंगे

By: prabha shankar

Updated: 01 Aug 2020, 05:38 PM IST

छिंदवाड़ा/ प्रत्येक पंचायत में 5 से 10 बिस्तरा क्वॉरंटीन सेंटर बनाया जाएगा। इसमें बाहर से आने वाले मजदूरों समेत अन्य व्यक्तियों को रखा जाएगा। इन्हें अपने घर से भोजन बुलवाना पड़ेगा। इस सेंटर के इंतजाम की जिम्मेदारी पंचायत सचिवों की होगी। इस सम्बंध में जनपद पंचायत के सीइओ सीएल मरावी ने शुक्रवार को पंचायत सचिवों की बैठक ली और उन्हें दिशा-निर्देश दिए।
उन्होंने बताया कि इन सेंटरों में रेड जोन से आने वाले लोगों को रखा जाएगा। इसकी मॉनिटरिंग एडीओ और पटवारी करेंगे। सचिव की टीम में कोटवार, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और आशा कार्यकर्ता को रखा गया है। जनपद पंचायत छिंदवाड़ा के अंतर्गत गुरैया, रोहना गांगीवाड़ा, सारना, जमुनिया, कपरवाड़ी, बोहनाखैरी, पिंडरईकलां, कुहिया, उमरहर और उभेगांव में 10 बिस्तरा क्वॉरंटीन सेंटर बनाए जाएंगे। शेष पंचायतों में पांच बिस्तरा सेंटर होंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। पंचायतों में इंतजाम के निर्देश कलेक्टर द्वारा दिए गए। इसका पालन कराए जाने की जिम्मेदारी सचिवों को दी गई है। बैठक में गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत पंचायतों में 11 कामों में प्रवासी मजदूरों को रोजगार से जोडऩे की बात भी कही। मनरेगा में मजदूरों की संख्या बढ़ाने की बात कही। उन्होंने कहा कि जिन निर्माण कार्यों में 75 से 90 प्रतिशत काम हो चुके हैं उनकी सीसी जारी की जाए। यह काम सहायक यंत्री देखेंगे।

Show More
prabha shankar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned