कोरोना संदिग्ध मरीज के सेम्पल भेजे

हर्रई चिकित्सालय में विकासखंड चिकित्सा अधिकारी डॉ पीयूष शर्मा ने जांच कर पाया कि राजेश को सर्दी जुखाम, साथ ही सांस लेने में तकलीफ होने के बाद दोपहर को एंबुलेंस से जिला चिकित्सालय रैफर कर दिया गया।

By: Sanjay Kumar Dandale

Published: 16 May 2020, 05:41 PM IST

छिंदवाड़ा/अमरवाड़ा. कोरोना वायरस को लेकर जहां सतर्कता बरती जा रही है वहीं हर्रई के एकलव्य आदर्श आदिवासी छात्रावास मॉडल शाला हर्रई जागीर में बनाए गए क्वॉरंटीन सेंटर में 14 मई की रात्रि सेंटर में राजढाना निवासी राजेश पिता दुर्ग लाल उईके 18 वर्ष की अचानक तबीयत खराब हो गई।
जिसके बाद चिकित्सक को बुलाकर दिखाया गया शुक्रवार को राजेश को हर्रई चिकित्सालय में विकासखंड चिकित्सा अधिकारी डॉ पीयूष शर्मा ने जांच कर पाया कि इस व्यक्ति को सर्दी जुखाम, गले में खरास और उसका टेंपरेचर बढ़ा हुआ बताा रहा था साथ ही सांस लेने में तकलीफ होने के बाद दोपहर को एंबुलेंस से जिला चिकित्सालय रैफर कर दिया गया। जानकारी के अनुसार राजेश उईके 9 मई को अपने तीन साथियों के साथ यहां क्वॉरंटीन किया गया था।
सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार राजेश अपने साथियों के साथ हैदराबाद से पैदल चलकर फिर ट्रक द्वारा यात्रा कर बोरगांव, सौसर तक आया और सौंसर से पिकअप वाहन में छिंदवाड़ा आया वहां से हर्रई अपने गांव पहुंचा था तब उन्हें एकलव्य आदर्श आदिवासी मॉडल छात्रावास में क्वॉरंटीन सेंटर में रखा गया। इस सेंटर में लगभग 60 व्यक्ति क्वॉरंटीन किए गए हैं। एसडीएम अमरवाड़ा मधुबंत राव धुर्वे, एसडीओपी संतोष डेहरिया, बीएमओ पीयूष शर्मा, तहसीलदार शंकर लाल मरावी, सीइओ जनपद हर्रई, एकलव्य विद्यालय छात्रावास अधीक्षक लक्ष्मी धुर्वे के साथ अन्य अधिकारी क्वॉरंटीन सेंटर की व्यवस्था का निरीक्षण करने पहुंचे।

Show More
Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned