मृतक स्वास्थ्य कर्मी माना जाए कोरोना वारियस...स्र्वास्थ्य संगठनों ने रखी मांग, पढ़ें पूरी खबर

- मप्र स्वास्थ्य कर्मचारी संघ ने ज्ञापन सौंप रखी मांग

By: Dinesh Sahu

Updated: 24 Sep 2020, 12:32 PM IST

छिंदवाड़ा/ जिले के शासकीय स्वास्थ्य कर्मियों की विगत दिवस कोरोना उपचार के तहत मौत हो गई तथा वे जनसेवा और ड्यूटी के दौरान कोविड-19 महामारी के शिकार हुए थे। ऐसे शासकीय स्वास्थ्य कर्मचारियों को शासन कोरोना वारियर्स घोषित करे तथा परिवार को मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना का लाभ स्वीकृत करे।

- मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना का दिया जाए लाभ

साथ ही मृतक के परिवार से एक सदस्य का अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान की जाए आदि मांगों के संदर्भ में बुधवार को मप्र स्वास्थ्य कर्मचारी संघ छिंदवाड़ा ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है। जिलाध्यक्ष धीरज सारवान ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परासिया की स्टाफ नर्स तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पिंडरईकलां में पदस्थ कम्पाउंडर जेएल परतेती की मौत कोरोना संक्रमण की वजह से हुई थी। इसलिए उन्हें शासन की योजना का लाभ मिलना चाहिए।


स्वास्थ्य कर्मियों को समय पर नहीं दिया जा रहे वेतन -


इधर छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस अंतर्गत हाईट कम्पनी अंतर्गत कार्यरत कर्मचारियों को निर्धारित समय पर वेतन/मानदेय का भुगतान नहीं किया जा रहा है। इससे कर्मचारियों को आर्थिक संकट से जूझना पड़ता है। जिलाध्यक्ष सारवान ने बताया कि ठेका एजेंसी ने विगत चार महीने का वेतन कर्मचारियों को नहीं दिया है और महिला कर्मियों को भी रात में ड्यूटी पर बुलाया जा रहा है।

COVID-19
Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned