Corona virus effect: हर दिन 20 से 25 यात्री पहुंच रहे रेलवे स्टेशन, यह है वजह

लॉकडाउन खुलने के बाद ही यात्रियों को रिफंड मिलेगा।

By: ashish mishra

Published: 18 Apr 2020, 12:29 PM IST


छिंदवाड़ा. ट्रेनों के 3 मई तक कैंसिल होने से अब रिजर्वेशन कराने वाले यात्री रिफंड पाने के लिए रेलवे स्टेशन के चक्कर लगा रहे हैं। जबकि लॉकडाउन खुलने के बाद ही यात्रियों को रिफंड मिलेगा। गौरतलब है कि वैश्विक आपदा कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए एक बार फिर रेलवे बोर्ड ने 15 अप्रैल से 3 मई तक ट्रेनों के परिचालन पर रोक लगा दी है। हालांकि यात्रियों को उम्मीद थी कि 15 अप्रैल से टे्रन चलेगी। उन्होंने ट्रेनों में यात्रा के लिए रिजर्वेशन भी करा लिया था, लेकिन 14 अप्रैल को रेलवे बोर्ड द्वारा जारी किए गए आदेश के बाद उनमें मायूसी छा गई। अब यात्री रेलवे स्टेशन पर रिफंड पाने के लिए चक्कर लगा रहे हैं। हालांकि रेलवे ने काउंटर से टिकट लेने वाले यात्रियों को यात्रा तिथि से 90 दिनों तक रिफंड पाने की छुट दी है। वहीं जिन यात्रियों ने ऑनलाइन रिजर्वेशन कराया है उनके अकाउंट में ही रिफंड वापसी हो रही है।


प्रतिदिन 20 से 25 यात्री पहुंच रहे
मॉडल रेलवे स्टेशन में ट्रेनों के रिजर्वेशन टिकट कैंसिल कराने और रिफंड पाने के लिए प्रतिदिन 20 से 25 यात्री पहुंच रहे हैं। रिजर्वेशन काउंटर बंद होने से वे या तो मायूस लौट जाते हैं या फिर स्टेशन प्रबंधक से जानकारी ले रहे हैं।

लॉकडाउन खुलने के बाद मिलेगा रिफंड
हर दिन 20 से 25 यात्री रेलवे स्टेशन आ रहे हैं। उनको समझाइश देकर घर भेज रहे हैं। लॉकडाउन खुलने के बाद ही रिजर्वेशन कैंसिल कराने पर यात्रियों को रिफंड मिलेगा। यात्रा तिथि से 90 दिनों तक यात्री रिफंड पा सकते हैं। 3 मई तक रिजर्वेशन काउंटर बंद रहेगा। तब तक न रिजर्वेशन होंगे और न ही यात्रियों को रिफंड मिल पाएगा।
संतोष श्रीवास, स्टेशन प्रबंधक, छिंदवाड़ा

ashish mishra Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned