उत्कृष्ट-मॉडल स्कूलों को लम्बे समय बाद मिली यह राहत

prabha shankar | Publish: Sep, 07 2018 11:39:09 AM (IST) | Updated: Sep, 07 2018 12:02:45 PM (IST) Chhindwara, Madhya Pradesh, India

डीइओ कार्यालय में हुई काउंसलिंग

छिंदवाड़ा. स्कूल शिक्षा विभाग अंतर्गत आने वाले उत्कृष्ट तथा मॉडल स्कूलों में पूर्व से कार्यरत शिक्षकों की पदस्थापना के लिए गुरुवार को जिला शिक्षा कार्यालय में काउंसलिंग आयोजित की गई।
जिला शिक्षा अधिकारी के निर्देश पर दो प्राचार्यों की टीम ने शिक्षकों को उनकी इच्छानुसार रिक्त पदों के आधार पर च्वाइस फिलिंग करा ली है। हालांकि अभी विभागीय स्तर पर पदस्थाना के पत्र जारी होने की कार्यवाही शेष है।
इधर, काउंसलिंग के लिए पहुंचे कुछ शिक्षकों ने विभागीय कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाए। शिक्षकों ने बताया कि अधिकांश स्कूलों में पद रिक्त हंै, लेकिन पोर्टल पर रिक्त नहीं दिख रहे हैं।
जिला शिक्षा अधिकारी आरएस बघेल ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार उत्कृष्ट तथा मॉडल स्कूलों में पहले से कार्यरत शिक्षक प्रतिनियुक्ति पर कार्य कर रहे थे। नवीन व्यवस्था के बाद हुई काउंसलिंग में सम्बंधित विषय शिक्षकों की पदस्थापना उत्कृष्ट-मॉडल स्कूलों में की गई तथा पूर्व से कार्यरत शिक्षकों को रिलीव कर दिया गया था। उल्लेखनीय है कि जिले के सात उत्कृष्ट तथा पांच मॉडल स्कूलों में कार्यरत पूर्व के शिक्षक अब तक जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे थे। इसके कारण विद्यार्थियों का अध्यापन कार्य प्रभावित हो रहा था। इस समस्या को पत्रिका ने प्रमुखता से समाचार प्रकाशित कर अधिकारियों का ध्यान आकर्षित कराया था।

उत्कृष्ट स्कूल छिंदवाड़ा के शिक्षकों ने की नाफरमानी
लोक शिक्षण संचालनालय के निर्देश पर एमएलबी स्कूल छिंदवाड़ा में हुई काउंसलिंग में शामिल हुए शिक्षकों की पदस्थाना की गई। इसमें लगभग २०० शिक्षकों ने भाग लिया था, लेकिन उत्कृष्ट स्कूल छिंदवाड़ा के सात शिक्षकों ने काउंसलिंग में शामिल होने से इनकार कर दिया था। जबकि शासन ने सम्बंधित शिक्षकों को च्वाइसफिलिंग में दर्शाए स्कूलों पदस्थापना के निर्देश दिए थे तथा जिला शिक्षा अधिकारी ने उन्हें एक तरफा रिलीव भी कर दिया था। अब तक इन शिक्षकों ने कही भी ज्वाइनिंग नहीं दी है। इस मामले में जिला शिक्षा अधिकारी बघेल ने बताया कि वर्तमान में पूर्व के शिक्षकों की पदस्थापना प्रक्रिया जारी है। शीघ्र ही उक्त शिक्षकों के संदर्भ में जानकारी जुटाई जाएगी।

Ad Block is Banned