Doctor: झोलाछाप डॉक्टर को न्यायालय ने दिया दण्ड

आरोपी ने टिटनेस का इंजेक्शन लगाए जाने पर इंजेक्शन रिएक्शन कर गया जिससे प्रीति को कमर में फोड़े हो गए।

छिंदवाड़ा. झोलाछाप डॉक्टर को न्यायालय ने छह माह की सजा सुनाई है। आरोपी डालचंद मालवीय निवासी चांद को भारतीय दंड संहिता की धारा 338 के अंतर्गत 6 माह का कारावास और तीन सौ रुपए का जुर्माना एवं भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद अधिनियम 1987 की धारा 24 के अंतर्गत 6 माह का कारावास एवं तीन सौ रुपए के जुर्माने से दंडित किया। दोनों सजाएं साथ-साथ भुगताई जाएगी। 8 सितम्बर 2013 को फागलाल की बेटी कुमारी प्रीति विश्वकर्मा के पैर में पत्थर लगने के कारण चोट आ गई थी। प्रार्थी इलाज के लिए आरोपी डालचंद के पास बेटी प्रीति को लेकर गया। टिटनेस का इंजेक्शन एवं दवाइयां दी गई। आरोपी ने टिटनेस का इंजेक्शन लगाए जाने पर इंजेक्शन रिएक्शन कर गया जिससे प्रीति को कमर में फोड़े हो गए। पीडि़त ने आरोपी डालचंद के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया। न्यायालय भानु पन्डवार न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी चौरई ने आरोपी को सजा सुनाई। प्रकरण में शासन की ओर से सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी उमेश पटेल ने पैरवी की।

Show More
babanrao pathe
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned