घाटी काटकर मोड़ चौड़े करने से रूकेगी दुर्घटना

घाटी काटकर मोड़ चौड़े करने से रूकेगी दुर्घटना
गुरुवार को पुलिस टीम ने सिल्लेवानी की घाटी तक निरीक्षण किया।

Baban Rao Pathe | Updated: 14 Jun 2019, 11:59:42 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

नागपुर-छिंदवाड़ा नेशनल हाइवे पर होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने और उसकी वजह जानने के लिए गुरुवार को पुलिस टीम ने सिल्लेवानी की घाटी तक निरीक्षण किया।

छिंदवाड़ा. नागपुर-छिंदवाड़ा नेशनल हाइवे पर होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने और उसकी वजह जानने के लिए गुरुवार को पुलिस टीम ने सिल्लेवानी की घाटी तक निरीक्षण किया। घाटी में तीन किमी चलने के बाद टीम के सामने आया कि दुर्घटना को रोकने के लिए सबसे पहले वाहनों की रफ्तार कम होनी चाहिए और दूसरा काम घाटी को काटकर मोड़ को चौड़ा किया जाए। तीन किमी के दायरे में १० जगह चिन्हित की गई है जहां वाहनों की रफ्तार कम करने के लिए रिम्बल स्ट्रीप बनाए जाएंगे।

सिल्लेवानी की घाटी में दुर्घटना होने की दो सबसे बड़ी वजह सामने आई है। मोड़ में वाहनों की अधिक रफ्तार और दूसरा मोड़ का अपेक्षाकृत कम चौड़ा होना। दोनों में सुधार करने से दुर्घटनाएं काफी कम होने की उम्मीद जताई जा रही है। तत्काल सुधार के तौर पर तीन किमी की घाटी में १० स्थानों पर रिम्बल स्ट्रीप यानि एक साथ कई सारे छोटे-छोटे ब्रेकर बनाए जाएंगे। स्पीड की जानकारी देने वाले साइन बोर्ड भी लगेंगे, इस पर जल्द ही काम शुरू हो सकता है। इसके अलावा घाटी काटकर मोड़ को चौड़ा करने के लिए संबंधित विभाग को पत्र लिखा जाएगा। गुरुवार को ट्रैफिक डीएसपी सुदेश कुमार सिंह और उनकी टीम ने इस क्षेत्र में दौरा किया।


यहां भी किया सुधार

ट्रैफिक डीएसपी सुदेश कुमार सिंह ने बताया कि चिखलीकला बस स्टैंड, उमरानाला चौकी के सामने, मोहखेड़ रोड, तंसरामाल पेट्रोल पम्प और बिछुआ मोड़ पर स्टॉपर लगाए गए हैं। तंसरामाल पेट्रोल पम्प के सामने ब्रेकर बनाया जाना बहुत जरूरी है जिससे की नागपुर की तरफ से आने वाले वाहन की रफ्तार कम हो। बिछुआ रोड से आने वाले वाहन सीधे नागपुर हाइवे पर न आए इसके लिए ड्रम में रेत भरकर रखवाए गए हैं, यह वैकल्पिक व्यवस्था बनाई गई है। भविष्य में यहां भी स्थाई इंतजाम किए जाएंगे ताकि दुर्घटना से वाहन चालकों को बचाया जा सके।

 

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned