इस लिंक पर क्लिक करते ही आप हो जाएंगे कंगाल

इस लिंक पर क्लिक करते ही आप हो जाएंगे कंगाल
cyber crime update news

Prabha Shankar Giri | Updated: 04 Jun 2019, 07:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

किसी भी लिंक पर अपने बैंक खाते से जुड़ी कोई भी जानकारी साझा न करें

छिंदवाड़ा. मोबाइल पर एक सामान्य मैसेज आपका बैंक खाता खाली कर सकता है। किसी भी मैसेज में आने वाली लिंक को खोलने से पहले उसे अच्छी तरह पढ़ लें, उसके बाद ही खोलें। किसी भी लिंक पर अपने बैंक खाते से जुड़ी कोई भी जानकारी साझा न करें। इस तरह के मैसेज में लिंक अक्सर रिटर्न भरने के दौरान जारी की जाती है जिसमें आयकर रिफंड स्वीकृत करने का झांसा दिया जाता है। पुलिस ने इस तरह के मैसेज से बचने की सलाह दी है।

जुलाई से अगस्त माह तक अक्सर मोबाइल पर एसएमएस आता है जिसमें लिखा होता है कि आपको रुपए 15 हजार या फिर 20 हजार या इससे अधिक का आयकर रिफंड स्वीकृत किया गया है। शीघ्र ही यह राशि आपके बैंक खाते में जमा कर दी जाएगी। कृपया आपके खाता संख्या को जांच लीजिए। एक फर्जी खाता नम्बर लिखा होगा। उसके ठीक नीचे लिखा होगा यदि यह खाता नम्बर सही नहीं है तो नीचे दिए लिंक पर जाकर अपने बैंक खाते की जानकारी को अद्यतन कीजिए।
इस लिंक को खोलने के बाद अक्सर कई लोग अपना खाता नम्बर भरने के बाद सममिट कर देते हैं, इसके कुछ देर बाद ही खाता खाली हो जाता है। साइबर सेल में पदस्थ सब इंस्पेक्टर सत्येन्द्र सिंह बघेल ने बताया कि इस तरह के एसएमएस अक्सर रिटर्न दाखिल करने के समय में भेजे जाते हैं जिसके कारण कई लोग झांसे में आते हैं। इस तरह के मैसेज व लिंक को ओपन करने से बचना चाहिए।

बैंक से मांगे हैं सीसीटीवी फुटेज
हाल ही में भारतीय स्टेट बैंक के एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर रुपए निकालने के कई मामले सामने आए हैं। यूपी और बिहार में जिन एटीएम से रुपए निकाले गए हैं उनकी जानकारी साइबर सेल की टीम ने जुटा ली है। उन बैंकों को पत्र लिखा गया है कि वे सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध कराएं जिससे आरोपित की शिनाख्त हो सके। इसके अलावा लीड बैंक को भी एक पत्र जारी किया गया है। इस तरह की गड़बड़ी कहां से हो रही है इस पर ध्यान देने के लिए कहा गया है। आम लोगों से आग्रह है कि वे अपने एटीएम और बैंक खाते की गोपनीय जानकारी किसी भी स्थिति में किसी और से साझा न करें।
मनोज कुमार राय, एसपी, छिंदवाड़ा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned