विधानसभा चुनाव से तय करेंगे पुलिस उप निरीक्षकों की तैनाती

विधानसभा चुनाव से तय करेंगे पुलिस उप निरीक्षकों की तैनाती

babanrao pathe | Publish: Jun, 14 2018 11:37:05 AM (IST) Chhindwara, Madhya Pradesh, India

जिले के भीतर ही होने वाले स्थानांतरण को लेकर गाइडलाइन जारी की गई है। निर्वाचन आयोग से जारी पत्र के आधार पर गम्भीरता बरती जा रही है।

छिंदवाड़ा. पुलिस उप निरीक्षकों के स्थानांतण को लेकर विशेष दिशा-निर्देश भोपाल पुलिस मुख्यालय से जारी हुए हैं। जिले के भीतर ही होने वाले स्थानांतरण को लेकर गाइडलाइन जारी की गई है। निर्वाचन आयोग से जारी पत्र के आधार पर गम्भीरता बरती जा रही है। बुधवार को पुलिस मुख्यालय से प्रदेश के सभी एसपी को पत्राचार किया गया है।

चुनाव के मददेनजर पुलिस विभाग में बड़े स्तर पर फेरबदल किया जा रहा है। चुनाव के चलते तीन वर्ष या इससे अधिक समय से जिले में पदस्थ रहे उपनिरीक्षकों का स्थानांतरण किया जा चुका है। बुधवार को भी भोपाल पुलिस मुख्यालय से एक पत्र जारी किया गया है जिसमें चुनाव को लेकर ही जिले के भीतर होने वाले उप निरीक्षक के तबादले के लिए दिशा निर्देश दिए गए हैं। प्रदेश के सभी एसपी को जारी पत्र में कहा गया है कि उप निरीक्षक संवर्ग के अधिकारियों का स्थानांतरण जिले के अंदर अन्य विधानसभा क्षेत्र में जहां वे पूर्व में चुनाव के दौरान पदस्थ न रहे हो वहां किया जाए। जिले के भीतर ही स्थानांतरित होने वाले उप निरीक्षक संवर्ग के अधिकारियों को अब उस विधानसभा क्षेत्र में पदस्थ नहीं किया जाएगा, जहां वे पूर्व के चुनाव में रह चुके हैं। जिन अधिकारियों का तबादला इस स्थिति में करना संभव नहीं उनकी जानकारी मुख्यालय ने मांगी है।

दिन में ही तोड़ दिए सूने मकान का ताला


शहर में लगातार बढ़ रहीं चोरी की वारदातों पर पुलिस अंकुश नहीं लगा पा रही है। पिछले दो माह में सबसे ज्यादा चोरियां कोतवाली थाना क्षेत्र में हुई हैं, इनमें से एक का भी खुलासा नहीं हो पाया। वारदात को लगातार अंजाम देकर चोर पुलिस को मानों खुली चुनौती दे रही है। बढ़ती चोरी की वारदात रोकने अधिकारी भी कोई ठोस कदम नहीं उठा रहे हैं।

कोतवाली थाना क्षेत्र के विवेकानंद कॉलोनी निवासी शिक्षा विभाग में पदस्थ प्रदीप मुले परिवार सहित १० जून को पचमढ़ी गए थे। मंगलवार रात करीब ८ बजे वे घर लौटे और सामने के दरवाजे को खोलने का प्रयास किया तो वह नहीं खुला। प्रदीप पिछले दरवाजे को खोलने पहुंचे तो उसके लॉक टूटे हुए थे। अंदर जाने पर देखा आलमारी और अटैची खुली पड़ी थी। चोरों ने पूरा सामान बिखराया, लेकिन उन्हें कुछ भी हाथ नहीं लगा। सूचना के बाद मंगलवार देर रात कोतवाली टीआई सुमेरसिंह जगेत, एएसआई राघवेंद्र उपाध्याय टीम के साथ मौके पर पहुंचे। छानबीन कर लौट आए। लगातार हो रही चोरी की वारदातों ने पुलिस की गश्त पर सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। शहर के हालात कुछ एेसे हो चुके हैं कि कोई भी सूना मकान छोडऩे से पहले सोचने लगा है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned