आपदा प्रबंधन समिति से हटे कांग्रेस नेता : देखें वीडियो

कांग्रेस ने कहा: भाजपा नेताओं ने समिति को बना दिया मजाक


छिंदवाड़ा / कोरोना संक्रमणकाल में जिला प्रशासन द्वारा बनाई गई आपदा प्रबंधन समिति को लेकर उपजा विवाद थमता दिखाई नहीं दे रहा है। कांग्रेस नेता बुधवार को इस समिति से हट गए। कांग्रेस नेता गंगाप्रसाद तिवारी के नेतृत्व में कलेक्टर से मिले। उन्होंने एक ज्ञापन देते हुए समिति में दलगत राजनीति का आरोप लगाया। इस दौरान दौरान कांग्रेस के विधायक, पूर्व विधायक व अन्य वरिष्ठ नेता भी उपस्थित थे। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि भाजपा नेताओं ने इस समिति को मजाक बना दिया गया।
जिला कांग्रेस अध्यक्ष गंगाप्रसाद तिवारी ने कहा कि आपदा प्रबंधन समिति में सदस्यों को सम्मिलित किए जाने को लेकर कोई आधार या मापदंड नहीं बनाया गया है। यदि इस समिति में भाजपा ने अपने पूर्व विधायकों को शामिल किया है तो कांग्रेस के पूर्व विधायकों, जिला पंचायत के अध्यक्षों को शामिल क्यों नहीं किया गया। इस बात की हम निंदा करते हैं।

ज्ञापन में ये भी रखी मांगे
कांग्रेस ने अपने ज्ञापन में कहा कि राज्य शासन ने इस आपदाकाल में यह घोषणा की थी कि गरीबी रेखा के साथ सफेद कार्डधारी अथवा वे परिवार जिनके पास कार्ड नहीं है उन्हें भी गेहूं-चावल, दाल राशन दुकानों से दिया जाएगा। जबकि, वर्तमान में राशन दुकानों से केवल बीपीएल परिवारों को सिर्फ चावल ही दिया जा रहा है। नगर निगम द्वारा वितरित किए जा रहे भोजन में भी राजनीति की जा रही है। इस कार्य को भी निष्पक्षता के साथ किया जाए। कलेक्टर को दिए ज्ञापन में गांवों से दूर बनाए गए गोदामों के उपार्जन केंद्रों को हटाकर उनकी खरीदी समिति स्तर पर करने की मंाग की गई तो लॉकडाउन में फुट्टपर्थी में फंसे जिले के 300 लोगों को वहां से वापस लाने के प्रयास करने के लिए भी कहा गया।

chandrashekhar sakarwar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned