मिश्रित खेती-पोषण वाटिका पर चर्चा

मिश्रित खेती-पोषण वाटिका पर चर्चा
मिश्रित खेती-पोषण वाटिका पर चर्चा

Sunil Lakhera | Updated: 12 Oct 2019, 05:02:01 PM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

पोषण वाटिका और बोरी बंधान पर सुझाव

खैरवानी/हनोतिया. विकासखंड अन्तर्गत ग्राम पंचायत नौलाखापा के ग्राम घोघराढाना में हरियाली किसान क्लब के साथ रिलायंस फाउंडेशन की बैठक की गई जिसमें किसानों के साथ ग्रामीण अंचलों में विभिन्न फसलों के उत्पादन और अच्छी पैदावार पर चर्चा की गई। साथ ही पोषण वाटिका बनाने के लिए और बोरी बंधान के लिए चर्चा किसानों से चर्चा और सुझाव लिये गये।
बैठक में ग्राम के 29 किसानों ने अपनी उपस्थिति सुनिश्चित की। पिछले बैठक में घोघराधाना के किसान को उद्यानिकी विभाग में चल रही स्कीम की जानकारी और आम के पौधे, पपीते, आंवला के पौधे लगाने की विधि बताई गई। जिसमें इन पौधों को अन्य फसलों के साथ लगाये जाने की बात भी कहीं गई थी साथ ही मिश्रित खेती की जा सकती इस प्रकार किसान को पूरी जानकारी बताई गई थी। जिससे प्रोत्साहित होकर किसान ने इस बार आम, आवंला और पपीता की खेती करके और उसी खेत में और भी सब्जियां लगाकर मिश्रत खेती की जो वर्तमान में उनके लिए फायदे का सौदा साबित हो रही है। किसानों द्वारा अपने खेतों में पपीते के 225 पौधे, आम के 30 पौधे, आवंला के 2 पौधे लगाये गये जो वर्तमान में पपीते की खेती में किसान को अच्छी उपज की पूर्ण उम्मीदे है और इससे अधिक लाभ होने की संभावनाएं भी बताई जा रही है। ग्राम के किसान बिरमू आम्रवंशी एवं मुकेश आम्रवंशी द्वारा उक्त पौधों को रोपित किया गया है।
अन्य किसान भी इन किसानों के खेत में खड़ी पपीते की फसलों के साथ आम और आंवला के पौधों को देखकर अपने खेतों में भी मिश्रित खेती करने की बात पर राजी हुये।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned