District Hospital: अब बच्चेदानी के मुख के प्री-कैंसर का हो सकेगा इलाज

स्त्री रोग विभाग में सुविधा शुरू, पहले महिलाओं को भेजना पड़ता था बाहर

By: prabha shankar

Published: 18 Sep 2021, 10:29 AM IST

छिंदवाड़ा। अब जिले में बच्चेदानी के मुख के प्री- कैंसर की जांच एवं इलाज की सुविधा मिल सकेगी। जिला अस्पताल की वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. श्वेता पाठक तथा डॉ. दीपी महाजन ने गुरुवार को स्त्रीरोग बाह्य विभाग में इसकी शुरुआत की।
चिकित्सकों के मुताबिक किसी महिला में यदि बच्चेदानी के मुख के प्री-कैंसर के लक्षण पाए जाते हैं तो इलाज भी अब जिला अस्पताल में ही उपलब्ध हो सकेगा। इसके पहले महिलाओं को यह परेशानी आने पर अन्य मेडिकल कॉलेज में भेजना पड़ता था। अब महिलाओं के बच्चेदानी के मुख के प्री-कैंसर की जांच वीआइए व वीली की विधि और कालपोस्कोपी की जांच संभव हो गई है। अस्पताल के साथ सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में अब वीआइए की सुविधा मिलेगी।
जांच के बाद आगे इलाज सम्भव हो सकेगा।
शासन द्वारा क्लिंटन हेल्थ एक्सेस इनिशेएटिव संस्था की सहायता से महिलाओं की कैंसर की वजह से असामायिक मृत्यु अथवा खराब स्वास्थ्य से बचाव के लिए किया गया यह प्रयास है।


ऐसी रोगी महिलाओं की भी ये जांच संभव
चिकित्सकों के अनुसार जिन 30 से 65 वर्ष की महिलाओं में माहवारी के बीच रक्तस्त्राव, माहवारी की अवधि सामान्य से अधिक एवं भारी रक्तस्त्राव, रजोनिवृत्ति के पश्चात भी रक्तस्त्राव, सम्भोग के दौरान दर्द या रक्तस्त्राव, असामान्य रूप से खून के साथ स्त्राव, पीठ में दर्द, थकान, पैरों में दर्द एवं पेशाब करने के दौरान दर्द पाया जाता है उन महिलाओं को तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर अपनी वीआइए की विधि से जांच करवानी चाहिए। 30 से 65 वर्ष की सभी महिलाओं ने स्त्री स्वास्थ्य सम्बंधी लक्षण हो या ना होने पर भी प्रत्येक पांच वर्ष में वीआइए की विधि से जांच कराना चाहिए।

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned