पक्षकारों को यहां मिलेगी निशुल्क कानूनी मदद

पक्षकारों को यहां मिलेगी निशुल्क कानूनी मदद

Rajendra Sharma | Publish: Sep, 12 2018 09:02:01 AM (IST) Chhindwara, Madhya Pradesh, India

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के फ्रंट ऑफिस का शुभारम्भ

छिंदवाड़ा. राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के जिला न्यायालय परिसर स्थित कार्यालय में फ्रंट ऑफिस का मंगलवार को औपचारिक शुभारंभ किया गया। जिला एवं सत्र न्यायाधीश और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष बीएस भदौरिया ने ऑफिर का रिबन काटकर शुभारम्भ किया।
इस फ्रंट ऑफिस के लिए पृथक से एक सूचना बोर्ड, चेयर टेबिल, कम्प्यूटर सिस्टम लगाया गया है और क्रियोस्क मशीन भी रखी गई है जिसमें पक्षकार न्यायालय में चल रहे मामले का विवरण देख सकते हैं। इस अवसर पर सीजेएम आरके डेहरिया, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं अपर जिला जज विजयसिंह कावछा, विधिक सहायता अधिकारी सोमनाथ राय, अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष राजेन्द्र सिंग बैस और सचिव उमाशंकर श्रीवास्तव, रिटेनर अधिवक्ता धनंजय पाने और नरेन्द्रसिंह बघेल, पैरालीगल वॉलेन्टियर्स श्यामलराव और सरिता धुर्वे समेत जिला प्राधिकरण के कर्मचारी उपस्थित थे।
प्राधिकरण के सचिव एवं अपर जिला जज कावछा ने बताया कि फ्रंट ऑफिस का उद्देश्य पक्षकार को सक्षम विधिक सेवा प्रदान करते हुए कार्यालय के प्रवेश द्वार पर ही सहायता दिलाना है, जिसमें पक्षकारों/पीडि़तों की 90 प्रतिशत समस्या का हल हो सके। आवश्यकता पडऩे पर जिला विधिक सहायता अधिकारी तथा सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा भी आवश्यक सलाह एवं सहायता प्रदान की जाएगी। उन्होंने बताया कि फ्रंट ऑफिस जिला विधिक सेवा प्राधिकरण और सभी तहसील विधिक सेवा समितियों में पूर्व से ही संचालित हो रहे हैं, किंतु जागरुकता के अभाव में पीडि़त व जरूरतमंद व्यक्ति लाभ नहीं ले पा रहे हैं। फ्रंट ऑफिस के औपचारिक शुभारंभ के बाद अब जनसामान्य निसंकोच होकर यहां से निशुल्क सलाह एवं सहायता प्राप्त कर सकते हैं। इस कार्य के लिए रिटेनर अधिवक्ता और पैरालीगल वॉलेंटियर्स की रोटेशन के आधार पर ड्यूटी लगाई जाएगी।

पहले दिन चार को मिली सहायता

शुभारंभ अवसर पर चार महिला पक्षकारों को रिटेनर अधिवक्ता धनंजय पाने एवं नरेंद्रसिंह बघेल तथा पैरालीगल वॉलेंटियर श्यामलराव ने कानूनी सलाह दी। साथ ही विधिक सहायता का आवेदन भरवाकर निशुल्क पैनल अधिवक्ता की नियुक्ति की कार्यवाही की गई।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned