इस प्रक्रिया से डॉक्टरों की होगी मॉनिटरिंग, होगी सख्त कार्रवाई

Dinesh Sahu | Publish: Sep, 11 2018 11:34:57 AM (IST) Chhindwara, Madhya Pradesh, India

प्रभारी अधिकारी ने बनाई उचित व्यवस्था: आकर्षक पेंटिंग से सजेगी ओपीडी की दीवार, अब चौबीसों घंटे मिलेगी दवा और पर्ची

छिंदवाड़ा. जिला अस्पताल में अब मरीजों को चौबीसों घंटे दवा मिल सकेगी और मरीज का पंजीयन भी किसी भी समय हो सकेगा। वहीं ओपीडी कक्ष की दीवारों को आकर्षक पेंटिंग से सजाया जाएगा। इसमें कुछ प्रेरक तो कुछ सामाजिक कुरीतियां दर्शाई जाएंगी। वहीं एक स्ट्रेचर ब्वॉय की सेवा समाप्ति कर नए कर्मचारी की नियुक्ति कर दी गई है। प्रभारी अधिकारी इच्छित गढ़पाले ने बताया कि पूर्व में कर्मचारी सिर्फ पांच घंटे कार्य करते थे, जबकि नियमानुसार आठ घंटे कार्य करना है।

 

अनियमितता मिलने पर स्टे्रचर ब्वॉय की सेवा की गई समाप्त

 

इसलिए ओपीडी पंजीयन तथा दवा वितरण केंद्र में २४ घंटे के आधार पर व्यवस्था बना दी गई है। आयुक्त गढ़पाले ने बताया कि शिशुओं को फीडिंग कराने के उद्देश्य से आंचल कक्ष का अनिवार्य रूप से खोलने के निर्देश दिए गए। वहीं अनियमितता पर एक स्टे्रचर ब्वॉय की सेवा समाप्त कर दी गई है।


औचक निरीक्षण में कलेक्टर ने की प्रभारी अधिकारी से चर्चा, कैमरे की निगरानी में होंगे डॉक्टर

जिला अस्पताल में डॉक्टर तथा कर्मचारियों के कार्यों की मॉनिटरिंग के लिए कैमरे लगाए जा सकते हैं। सोमवार को कलेक्टर वेदप्रकाश ने प्रभारी अधिकारी आयुक्त इच्छित गढ़पाले से इस सम्बंध में चर्चा की और तकनीकी विभाग प्रभारी को रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए। कैमरे लगाने का उद्देश्य मॉनिटरिंग के साथ-साथ वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए ड्यूटी डॉक्टर से विभिन्न मामलों पर चर्चा करना भी है।
इधर मरीजों को उचित और आसान स्वास्थ्य सेवाएं मिलें, इसके लिए जगह-जगह पर्ची काउंटर खुलवाए गए हैं। इसमें ब्लड, एक्स-रे, सोनोग्राफी समेत अन्य जांच शामिल हैं।

 


औचक निरीक्षण के दौरान ब्लड बैंक मे कार्यरत एक कर्मचारी को अनावश्यक माहौल नहीं बनाने तथा काम को आसान व सरल बनाने की हिदायत दी। वहीं साफ-सफाई व्यवस्था को संतोषजनक बताया। मेडिकल कॉलेज डीन डॉ. तकी रजा से सम्बंधित विषयों पर चर्चा की। इस दौरान प्रशासन तथा नगर निगम के अन्य अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।


पंजीयन काउंटर शुरू करने के दिए निर्देश


इ-हॉस्पिटल कार्यक्रम के तहत जिला अस्पताल में निर्माणाधीन पंजीयन काउंटर को शीघ्र शुरू करने के निर्देश दिए। इस दौरान कलेक्टर ने पंजीयन और दवा वितरण व्यवस्था की समीक्षा भी की। बता दें कि इ-हॉस्पिटल सेवा शुरू होने के बाद लोगों को ओपीडी पंजीयन कराने में दिक्कत हो रही थी। मरीजों की समस्या के निराकरण के लिए तीन अतिरिक्त काउंटर खोलने के निर्देश के बाद अतिरिक्त कक्ष का निर्माण कराया जा रहा है।


निजी क्लीनिक व पैथालॉजी अब निशाने पर


मरीजों को ठगने और लूटने के उद्देश्य से कुछ डॉक्टर निजी क्लीनिक और पैथालॉजी में आने के लिए दबाव बनाते हैं या ओपीडी समय पर अपने क्लीनिक पर कार्य करते हंै। एेसे लोगों पर नकेल कसने के लिए जल्द ही प्रशासन एक टीम गठित कर कार्रवाई कर सकता है। सूत्रों की मानें तो इसके लिए प्रशासकीय तैयारी हो चुकी है। समिति के गठित होते ही शीघ्र अमला शहर में संचालित निजी क्लीनिक और पैथालॉजी का औचक निरीक्षण करेगा।

 

Ad Block is Banned